बम्पर आवक :सरसों से गुलजार हुई कृषि उपज मण्डी

खेतों से सरसों कटकर अब मंडी पहुंचने लगी है। ऐसे में कृषि उपज मण्डी में फिर से रौनक दिखाई देने लगी है। कृषि उपज मण्डी में इन दिनों उपखण्ड के कई क्षेत्रों से कटाई के बाद मण्डी में सरसों बिकने के लिए आ रही है।

By: MOHAN LAL KUMAWAT

Updated: 19 Mar 2020, 09:41 AM IST

मालपुरा. खेतों से सरसों कटकर अब मंडी पहुंचने लगी है। ऐसे में कृषि उपज मण्डी में फिर से रौनक दिखाई देने लगी है। कृषि उपज मण्डी में इन दिनों उपखण्ड के कई क्षेत्रों से कटाई के बाद मण्डी में सरसों बिकने के लिए आ रही है।

कृषि उपज मंडी में बुधवार को 15 से 20 हजार बोरी सरसों की आवक हुई, जिन किसानों ने पहले बुवाई कर दी थी, उनकी फसल कटकर आ गई है। फसल कटाई के बाद किसान सरसों बेचने के लिए मंडी में पहुंच रहे हैं। कई किसानों ने सरसों की बुवाई देरी से की थी।

इसके चलते उनकी फसल अभी तक भी तैयार नहीं हो सकी है। आने वाले दिनों में मंडी में सरसों की ओर आवक बढ़ेगी। कृषि उपज मण्डी में इन दिनों प्रतिदिन 15 से 20 हजार बोरी नई सरसों की आवक हो रही है। नई सरसों के भाव फिलहाल 3400 से 38 50 रुपए प्रति क्विंटल है। भावों को लेकर नई सरसों लेकर आ रहे किसानों के चेहरे पर थोड़ी मायूसी है।

नगरफोर्ट. क्षेत्र की ग्राम पंचायत फुलेता से से ताखोली मोड़ तक 3 किलोमीटर सडक़ का निर्माण कार्य चल रहा है, जिसमें ग्रामीणों के अनुसार संवेदक की ओर से मापदंडों के अनुसार निर्माण कार्य नहीं करवाया जा रहा है।

ग्रामीणों ने द्वारा मापदंडो के विपरीत निर्माण करने पर हंगामा कर कार्य को रुकवाना चाहा, लेकिन संवेदक द्वारा निर्माण सामग्री का उपयोग कर सडक़ कार्य चालू रखा गया। ग्रामीणों ने प्रशासन से मापदण्डों के आधार पर ही सडक़ निर्माण करने की मांग की है।

ग्रामीणों की शिकायत पर सहायक अभियंता ऋ षिकेश मीना मौके पर पहुंचे और निर्माण सामग्री की जांच की। अभियंता ने संवेदक को मापदण्डों के अनुरुप सामग्री का उपयोग करने की हिदायत दी। इस अवसर पर दशरथ पारीक, भोलाशंकर, जितेंद्र, हेमराज, मीनू आदि ग्रामवासी मौजूद थे।

MOHAN LAL KUMAWAT
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned