रीट परीक्षा: निगम की बसों में परीक्षार्थियों की रहेगी भीड़, 57 हजार आएंगे, 23 हजार जाएंगे

प्रदेश के कई शहरों व कस्बों में बनाए गए रीट परीक्षा के केन्द्र तक पहुंचने को लेकर अभी से ही परीक्षार्थियों ने तैयारियां शुरू कर दी है। ऐसे में रीट से पहले परीक्षार्थियों को वहां पहुंचने की परीक्षा पहले देनी होगी।

By: pawan sharma

Published: 19 Sep 2021, 02:57 PM IST

टोंक. प्रदेश के कई शहरों व कस्बों में बनाए गए रीट परीक्षा के केन्द्र तक पहुंचने को लेकर अभी से ही परीक्षार्थियों ने तैयारियां शुरू कर दी है। ऐसे में रीट से पहले परीक्षार्थियों को वहां पहुंचने की परीक्षा पहले देनी होगी। इसके लिए अभी से ही होटल और धर्मशालाएं बुक होने लगी है।

अन्य शहरों व जिलों में रहने वाले रिश्तेदारों व मिलने वालों के माध्यम से रहने की व्यवस्था की जा रही है। वहीं प्रशासन ने भी इसकी तैयारियां शुरू कर दी है। इसके लिए सम्बन्धित विभाग को निर्देश जारी किए जा चुके हैं। दरअसल प्रशासन का मानना है कि दूरस्थत जिलों से आने वाले परीक्षार्थी एक दिन पहले आएंगे।

ऐसे में उनके ठहरने और भोजन की व्यवस्था की जाएगी। वहीं कई परीक्षार्थियों ने अपने स्तर पर इन सब की व्यवस्था की है। जिला प्रशासन के मुताबिक जिले में रीट परीक्षा में 56 हजार 992 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इस परीक्षा में टोंक एवं अन्य जिलों के परीक्षार्थी भाग लेंगे।

इसके लिए जिला कलक्टर चिन्मयी गोपाल ने अतिरिक्त जिला कलक्टर बीसलपुर प्रभाती लाल जाट एवं जिला परिवहन अधिकारी को परीक्षा के पहले व बाद में यातायात व्यवस्था सुचारू रखने एवं कोरोना गाइडलाइन आदि की पालना करवाने के लिए निर्देशित किया है।

इतनी बड़ी संख्या में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों के लिए सभी उपखण्ड अधिकारी एवं अन्य ब्लॉक स्तरीय अधिकारी व्यवस्थाओं का बेहतर इन्तजाम करेंगे। बाहर के जिलों से आने वाले परीक्षार्थी सम्बन्धित ब्लॉक में एक दिन पूर्व ही आ जाएंगे।

ऐसे में उनके ठहरने, भोजन, परिवहन की व्यवस्थाओं की कार्ययोजना बनाई जा रही है। आदेश के मुताबिक उपखण्ड अधिकारी उनके क्षेत्र में बनाए गए परीक्षा केन्द्रों के भवन एवं भौतिक संसाधनों की व्यवस्था जांच लेंगे। रीट परीक्षा के लिए जिले में कुल 90 परीक्षा केन्द्र बनाए गए है।


इंदिरा रसोई से होगा भोजन उपलब्ध: कलक्टर की ओर से जारी निर्देश के तहत नगर परिषद आयुक्त एवं नगर पालिकाओं के अधिशासी अधिकारी इन्दिरा रसोई योजना से परीक्षार्थियों को भोजन उपलब्ध कराएंगे। साथ ही धर्मशाला आदि की व्यवस्थाएं करेंगे।

सीएमएचओ प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर पर्याप्त मात्रा में थर्मल स्कैनर के साथ स्वास्थ्य कर्मी की मौजूदगी, मास्क एवं सैनेटाइजर करेंगे। सभी परीक्षा केन्द्रों में वीडियोग्राफी होगी। वितरण एवं संग्रहण केन्द्रों पर 24 घण्टे सशस्त्र पुलिस जाप्ता लगाया जाएगा। निजी परीक्षा केन्द्रों पर अतिरिक्त केन्द्राधीक्षक एवं 50 प्रतिशत स्टॉफ सरकारी होगा।

रोडवेज बसें हुई तैयार
रोडवेज डिपो के पास 72 बसें हैं। यह सभी परीक्षा के दिन विभिन्न रूट पर दौड़ेगी। वहीं ऑफ रूट बसें भी परीक्षा के लिए रूट पर रहेगी।


जिले में 90 परीक्षा केन्द्र

शहर केन्द्र प्रथम पारी दूसरी पारी
टोंक 46 157700 15772
निवाई 12 36000 3599
पीलपू 03 7500 750
मालपुरा 09 23000 2300
टोडारायसिंह 05 13000 1300
देवली 08 29700 2970
उनियारा 07 18050 1806

जिले में कहां से कितने आएंगे व जाएंगे विद्यार्थी
जिला आएंगे जाएंगे
अजमेर 0 28
अलवर 3084 602
बांसवाड़ा 36 242
बाड़मेर 11 10
भरतपुर 14 189
भीलवाड़ा 01 33
बीकानेर 05 0
बूंदी 557 1267
चित्तौडगढ़़ 40 20
चूरू 01 14
डूंगरपुर 48 02
जयपुर 15284 5907
जैसलमेर 12 11
जालौर 09 09
झुंझुनूं 33 8 80
झालावाड 322 48
जोधपुर 40 58

जिला आएंगे जाएंगे
कोटा 1064 4806
नागौर 01 0
पाली 47 34
सवाईमाधोपुर 15 29
सीकर 1022 2871
सिरोही 02 05
श्रीगंगानगर 08 08
टोंक 9460 9460
उदयपुर 41 63
धौलपुर 06 09
दौसा 2144 6408
बारां 327 52
राजसमंद 14 16
हनुमानगढ़ 02 09
करौली 07 68
प्रतापगढ़ 32 04
प्रशासन से प्राप्त आंकड़े

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned