खेत में आग लगने से दस वर्षीय बालक की झुलसने से हुई मौत

खेत में आग लगने से दस वर्षीय बालक की झुलसने से हुई मौत

pawan sharma | Publish: Mar, 14 2018 09:13:49 AM (IST) Tonk, Rajasthan, India

चरागाह में आग लगाकर मधुमक्खी के छत्ते से शहद निकालते समय आग की चपेट में दस वर्षीय बालक की मौत हो गई।

 

कुहाड़ा बुजुर्ग (लाम्बाहरिसिंह). कुहाड़ा बुजुर्ग पंचायत के कोटडी गांव में सोमवार शाम तालाब के पास स्थित चरागाह में आग लगाकर मधुमक्खी के छत्ते से शहद निकालते समय आग की चपेट में दस वर्षीय बालक की मौत हो गई। मंगलवार को परिजनों ने मृतक का अन्तिम संस्कार किया। थाना प्रभारी गंगाराम ताखर ने मृतक रामकिशन मोग्या का पुत्र रामरतन मोग्या है।

 

 

वह पास ही खेतों पर बनी झोपडिय़ों में पिता के पास रह रहा था। पिता खेतों में बोई फसल की रखवाली करने का काम करता है। शाम को वह चरागाह में कांटों की बाड़ में आग लगाकर मधुमक्खियों के छत्ते से शहद निकालने का प्रयास कर रहा था। इस दौरान करीब दस बीघा से अधिक भूमि में उगी सूखी घास, कांटों की बाड़ आदि को चपेट में ले लिया।

 

 

इससे चारों तरफ आग से घिरा बालक चपेट में आने से झुलस गया था। सूचना पर पहुंचे परिजन उसे लेकर अन्य गांव में उपचार के लिए लेकर चले गए थे। परिजन नहीं मिलने से घटना की पुष्टि नहीं हो सकी थी। हालांकि सूचना पर मालपुरा से पहुंची दमकल व पुलिस की सहायता से आग पर काबू पाया था। पुलिस ने बताया कि मृतक के पिता की ओर से किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं करने से पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया।

 


चार घंटे की मशक्कत के बाद पाया काबू
टोडारायसिंह. रीण्डल्या रामपुरा पंचायत के बनकाखेड़ा गांव में सोमवार रात आधा दर्जन बाड़े व कच्चें मकान में लगी आग में चारा, अनाज की बोरियां समेत ईंधन, लकड़ी व अन्य सामान जलकर राख हो गया। आग बनकाखेड़ा निवासी भैरूं कैलाश, घासी, रामदेव व बद्रीलाल कुम्हार के बाड़ों व कच्चें मकानों में लगी।

 

 

पीडि़तों ने खेत व बाड़ों के पास मकान बना रखे हैं। देर रात बाड़े में रखे चारे में अचानक आग लग गई। देखते ही देखते बाड़ों में लगी आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। आग में मवेशियों का चारा, प्लास्टिक के पाइप, ईंधन, लकडिय़ां व अन्य समान जल गया। ग्रामीणों ने आग बुझाने का प्रयास किया। लेकिन नाकाम रहे।

 

 

सूचना पर उपखण्ड अधिकारी साधूराम जाट, सरपंच मंजू देवी जाखड़, गोवर्धन चौधरी मौके पर पहुंचे। उन्होंने मालपुरा व टोडारायसिंह से दमकल मंगवाई। चार घण्टे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया लिया गया। इधर, आग से हुए नुकसान के चलते पीडि़त परिवारों का रो-रोकर बुरा हाल था। ग्रामीण रातभर चारे को फैलाकर आग बुझाने में लगे रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned