विद्यालयों में लगेगी शिकायत पेटी, पुलिस करेंगी तत्काल कार्रवाई

राजीव गांधी सेवा केन्द्र दूनी के सभागार में पुलिस की ओर से चलाए ‘आवाज दो’ अभियान के तहत महिलाओं को जागरूक कर सहायता के लिए विभाग की ओर से लांच ‘स्पीक-अप’ की सेवा लेने एवं विद्यालयों में लगाई जाने वाली शिकायत पेटी की जानकारी दी।

By: pawan sharma

Published: 06 Oct 2021, 02:39 PM IST

दूनी. राजीव गांधी सेवा केन्द्र दूनी के सभागार में पुलिस की ओर से चलाए ‘आवाज दो’ अभियान के तहत सरपंच रामअवतार बलाई एवं थानाप्रभारी रमेशचंद मीणा की मौजूदगी में मंगलवार को अभियान प्रभारी महिला कांस्टेबल ज्योती मीणा ने मौजूद महिलाओं को जागरूक कर सहायता के लिए विभाग की ओर से लांच ‘स्पीक-अप’ की सेवा लेने एवं विद्यालयों में लगाई जाने वाली शिकायत पेटी की जानकारी दी।

उल्लेखनीय है की अभियान प्रभारी ज्योती मीणा ने महिलाओं को जागरूक कर बताया की पुलिस विभाग की ओर से चलाई मुहिम ‘आवाज दो’ के माध्यम से महिला, बालिकाएं एवं छात्राएं अपने उपर होने वाले अत्याचारों की शिकायत गुप्त रूप से लगी शिकायत पेटी में पत्र डालकर या फिर पुलिस थाने में पहुंचकर महिला डेस्क पर मौजूद अधिकारी या महिला कांस्टेबल से कर सकती है, उक्त शिकायतों पर पुलिस की ओर से तत्काल कार्रवाई की जाएंगी।

इसके साथ ही दूर-दराज के गांवों के अलावा शिकायत पेटी एवं थाने तक नहीं पहुंचने वाली महिलाएं तत्काल कार्रवाई के लिए विभाग की ओर से लांच किए ‘स्पीक-अप’ एप के माध्यम से शिकायत दर्ज करवा सकती है। थानाप्रभारी रमेशचंद मीणा ने मौजूद महिलाओं एवं जनप्रतिनिधियों को विभागीय अभियान की जानकारी देकर घर-घर जाकर महिला, बालिका एवं छात्राओं में जागरूकता लाने की अपील कर थाना क्षेत्र के सभी विद्यालयों में शिकायत पेटी लगवाए जाने की बात कही।

इस पर सरपंच रामअवतार बलाई ने मौजूद महिला वार्डपंचों को मोबाइल में ‘स्पीक-अप’ एप डाउनलोड किए जाने की अपील करने पर अभियान प्रभारी ज्योती मीणा ने उन्हें एप को एक्टिव करने की कार्रवाई से अवगत करवाया। इस मौके पर वार्डपंच ऋतु मुन्दड़ा, अंकिता कोठारी, आशा पुरी, आंनबाड़ी कार्यकर्ता ललिता तिवाड़ी सहित देवकीनन्दन खाण्ड़ल, अभिषेक गोठवाल, कनिष्ठ लिपिक दुर्गालाल मीणा व अन्य भी मौजूद थे।

ऐसे कार्य करेंगा ‘स्पीक-अप’ एप
‘आवाज दो’ अभियान प्रभारी ज्योती मीणा ने बताया की थाना क्षेत्र के दूर-दराज गांवों-ढाणियों में रहने वाली महिला, बालिकाएं या फिर कस्बों में रहने वाली महिला-बालिकाएं जो घरों से बाहर आकर अपने उपर हो रहे अत्याचारों की शिकायत करने में सक्षम नहीं है वह अपने एंडराइड मोबाइल के प्ले स्टोर पर जाकर ‘स्पीक-अप’ एप डाउनलोड कर उसमे अपनी शिकायत दर्ज करा सकती है। एप में अलग-अलग रूप से शिकायत दर्ज की जा सकती है। उन्होंने बताया की शिकायत के कई प्रकार के ऑप्शन एप में है, तत्काल सहायता के लिए शिकायत दर्ज कराए जाने पर उस पर पुलिस की ओर से तत्काल कार्रवाई कर मौके पर पहुंचेंगी।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned