एसडीएम को की शिकायत तो कोरोना पीडि़त को भेजी दवा, मरीजों की नहीं ले रहे सुध


कोरोना वायरस

By: Vijay

Published: 17 Sep 2020, 09:43 AM IST


पीपलू(रा.क.). वैश्विक कोरोना महामारी कोरोना का संक्रमण जिलेभर में लगातार बढ़ रहा हैं। वहीं पीपलू क्षेत्र में भी अब धीरे-धीरे केस सामने आने लगे हैं, लेकिन शुरुआती दौर के मुताबिक चिकित्सा विभाग व प्रशासन भी अब इसके प्रति इतना गंभीर नजर नहीं आ रहा हैं।
आमजन के स्वास्थ्य और कोरोना संक्रमित मरीज के लिए प्रशासन व चिकित्सा विभाग कितना एक्टिव है, इसकी बानगी पीपलू क्षेत्र में देखने को मिल रही हैं। कोरोना संक्रमित आने वाले मरीज की रिपोर्ट आने के बाद चिकित्सा विभाग संबंधित व्यक्ति को समय पर बताना तक मुनासिब नहीं समझ रहा कि उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। यहां तक की रिपोर्ट आने के बाद मरीज को दवा देने के प्रति भी कोई गंभीरता नजर नहीं आ रही हैं। पॉजिटिव मरीजों के दवा नहीं मिलने के मामले की शिकायत बुधवार को उपखंड अधिकारी रवि वर्मा से की गई। इसके बाद चिकित्सा विभाग हरकत में आया। कार्मिक ने पॉजिटिव मरीजों के घर पर जाकर इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करने आदि की दवाईयां देते हुए स्क्रीनिंग भी की हैं। चिकित्सा विभाग के अनुसार कई मरीज बिना लक्षण के भी पॉजिटिव आ रहे हैं। ऐसे में उन्हें किस बात की दवा दी जाएं। इससे भी उनमें असमंजस बना हुआ हैं। टोंक सीएमएचओ सहित ब्लॉक सीएमएचओ द्वारा सही मॉनिटरिंग के अभाव में चिकित्सा विभाग पॉजिटिव मरीज के घर होम आइसोलेशन का नोटिस चस्पा कर अपनी जिम्मेदारी पूर्ण कर रहा हैं। संक्रमित मरीज को समय पर पता नहीं चलने से वह उसके बाद भी लगातार आमजन के संपर्क में आकर दूसरों को भी संक्रमित कर रहा है।
सैंपलिंग में भी देरी:
पीपलू कस्बे सहित आस-पास के क्षेत्रों में पॉजिटिव मरीजों के परिजन तथा संपर्क में आने वालों की सैंपलिंग में 3 दिन या उसके अधिक तक का समय लग रहा हैं। ऐसे में संपर्क में आने वालों के चिह्नित नहीं होने तथा सैंपलिंग नहीं होने से वह लगातार इधर-उधर घूमने से संक्रमण का खतरा बने हुए हैं। इतना ही नहीं जिसका भी सैंपल लिया जा रहा हैं उसकी रिपोर्ट आने तक वह होम आइसोलेशन के लिए पाबंद होता हैं लेकिन उसकी कोई पालना हो रही हैं या नहीं इसका भी चिकित्सा विभाग एवं प्रशासन प्रबंध नहीं कर रहा हैं।
लॉक डाउन: बाजारों में पसरा रहा सन्नाटा
मालपुरा. कोरोना वायरस के चलते लगाए गए लॉकडाउन के कारण शहर के बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा। उपखण्ड मजिस्ट्रेट डॉ. राकेश कुमार मीणा ने वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण के चलते बुधवार व गुरुवार को शहर के सभी बाजार बंद रखने के आदेश जारी किए। आदेश के चलतेे बाजार की एक भी दुकान नहीं खुली। कोरोना संक्रमण के डर से अधिकतर लोग घरों में ही रहे। बाजारों में दुकाने बंद रहने के बावजूद दुपहिया व चार पहिया वाहनों का आवागमन जारी रहा। सरकारी कार्यालय पूर्व की तरह खुले, लेकिन कार्यालयो में आम जन नहीं के बराबर ही आए। गुरुवार को भी मालपुरा शहर के बाजार बंद रहेंगे।

Vijay Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned