राष्ट्रीय लोक अदालत में राजीनामे से निपटाए आपसी विवाद, 280 प्रकरणों का किया निस्तारण

राष्ट्रीय लोक अदालत में राजीनामे से निपटाए आपसी विवाद, 280 प्रकरणों का किया निस्तारण

Pawan Kumar Sharma | Updated: 14 Jul 2019, 06:00:03 PM (IST) Tonk, Tonk, Rajasthan, India

National Lok Adalat जिले भर में शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालतों का आयोजन हुआ। इनमें विभिन्न लम्बित प्रकरणों का राजीनामे से निस्तारण किया गया। राजीनामे योग्य प्रकरण व विवाद पूर्व श्रेणी के प्रकरणों को पक्षकारों के बीच राजीनामे से निपटाया गया।

देवली. स्थानीय न्यायालय (Court) में शनिवार को न्यायिक मजिस्टे्रट (Judicial magistrate) अमरसिंह खारडिय़ा की मौजूदगी में द्वितीय राष्ट्रीय लोक अदालत (National Lok Adalat) का आयोजन हुआ। इसमें विभिन्न लम्बित प्रकरणों का राजीनामे से निस्तारण किया गया। इस दौरान राजीनामे योग्य प्रकरण व विवाद पूर्व श्रेणी के प्रकरणों को पक्षकारों के बीच राजीनामे से निपटाया गया।

 

read more: आपसी समझाइश से निपटाए सालों से चल रहे प्रकरण, चेहरे पर मुस्कान लेकर लौटे घर

 

इससे पहले न्यायिक मजिस्टे्रट, न्यायालय कर्मचारियों व अभिभाषकों ने न्यायालय परिसर में पौधारोपण किया। उन्होंने 41 विभिन्न किस्म के पौधे लगाए। यहां अभिभाषक बंशीलाल कलवार, वीरेन्द्र जैन, बद्रीप्रसाद विजय, बाबूलाल, रमेश शर्मा, कमलेश वैष्णव, पारस जैन व न्यायालय कर्मचारी यासीन अली, संजय जैन, हरीश जैन उपस्थित थे।

read more:राष्ट्रीय लोक अदालत में सुलझे मामले, छाईं खुशियां

 

15 प्रकरणों का निस्तारण
दूनी. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के तहत दूनी न्यायालय में न्यायिक मजिस्टे्रट जितेन्द्र रैया की अध्यक्षता में शनिवार राष्ट्रीय लोक अदालत दिवस पर एक दर्जन से अधिक प्रकरणों का निस्तारण कर दूनी-सरोली मार्ग स्थित आवंटित न्यायालय भूमि पर एक दर्जन से अधिक छायादार पौधे लगा मौजूद अधिकारी-कर्मचारियों को इनकी सुरक्षा एवं संवर्धन की शपथ दिलाई।

readmore:राष्ट्रीय लोक अदालत में फिर रचाया विवाह, फ फक- फकर कर रोने लगा किसान

 

इसके बाद न्यायालय में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में न्यायिक मजिस्ट्रेट रैया ने पन्द्रह प्रकरणों का निस्तारण कर फरियादियों को राहत दी। इस मौके पर एपीपी दिग्विजयसिंह राठोड़, न्यायालयकर्मी मानसिंह मालावत, देवलाल मीणा, हनुमान गुर्जर, रमेश वाल्मिकी, पुलिसकर्मी रणजीत सिंह, कन्हैयालाल चौधरी, महावीर, अधिवक्ता कुलदीप शर्मा, बाबूलाल बैरागी, राजेश धाकड़ व अन्य थे।

 

37 प्रकरणों का निस्तारण
उनियारा. यहां शनिवार को अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कार्यालय में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में 37 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। विधिक तालुका समिति के सचिव गोविन्द राम साहू ने बताया कि ऐसीजेएम उदय सिंह आलोरिया की अध्यक्षता में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 106 3 प्रकरण रखे गए थे, इनमें प्रीलीटीगेशन के 741 प्रकरणों में से 7 एवं 322 विचाराधीन प्रकरणों में से 30 प्रकरणों का निस्तारण आपसी समझाइश एवं राजीनामे से किया गया।

 

उन्होने बताया कि विभिन्न बैंको के प्रकरणों के मामलों में 7.16 लाख रुपयों की वसूली भी करवाई गई। इससे पूर्व एसीजेएम उदयसिंह अलोरिया ने न्यायालय परिसर में पौधरोपण कर उसकी सारसंभाल करने का संकल्प दिलवाते हुए राष्ट्रीय लोक अदालत की शुरुआत की।

 

106 प्रकरणों का निस्तारण किया
निवाई. अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के सभागार में शनिवार को अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट उमेश वीर कीअध्यक्षता में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन हुआ। लोक अदालत में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट उमेश वीर ने कहा कि लोक अदालत में समय व धन की बचत होती है।

 

विधि एवं मानवाधिकार विभाग के अध्यक्ष बनवारीलाल यादव ने बताया कि लोकअदालत में 106 मामलों का निस्तारण किया गया।

 

इस अवसर पर बार अध्यक्ष एडवोकेट गोपाल लाल जाट, पूर्व बार अध्यक्ष नरेन्द्र जाट, विधि व मानवाधिकार विभाग अध्यक्ष बनवारीलाल यादव, महासचिव दयाराम गुर्जर सहित कई अधिवक्ता मौजूद थे।

 

इसी प्रकार मुंशिफ न्यायालय में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रीति चौधरी की अध्यक्षता में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन हुआ, जिनमें कई मामलों का आपसी समझाइश करवा कर निस्तारण किया गया।

Tonk News in Hindi

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned