लॉकडाउन में बिजली के बिल देने से उपभोक्ताओं में रोष

कोरोना महामारी के चलते पूरे देश में लॉक डाउन चल रहा है और लॉक डाउन में जहां राज्य सरकार ने बिजली व पानी के बिल तीन माह बाद जमा करने घोषणा की है।

By: Vijay

Published: 10 May 2020, 06:15 PM IST

निवाई. कोरोना महामारी के चलते पूरे देश में लॉक डाउन चल रहा है और लॉक डाउन में जहां राज्य सरकार ने बिजली व पानी के बिल तीन माह बाद जमा करने घोषणा की है। वहीं दूसरी ओर विद्युत विभाग अपने मीटर रीडर को घर-घर भेजकर रीडिंग लेकर तुंरत बिल थमाए जा रहे है।
शनिवार को इन्द्रा कॉलोनी में मीटर रीडर मौके पर पहुंच कर उपभोक्ताओं को बिल दिए तो लोगों ने इसका विरोध कर बोले कि जब राज्य सरकार ने तीन माह की छूट दी है तो फि र अभी बिल पर तारीख डालकर जमा करवाने के लिए क्यों कहा जा रहा है। कॉलोनी के उपभोक्ताओं ने इस संदर्भ में विद्युत विभाग के अधिकारियों की शिकायत पोर्टल पर करेंगे। इसी प्रकार गांव चैनपुरा सहित कई गांवों में भी बिजली के बिल देने पर उपभोक्ताओं ने विरोध जताया।

बालाजी मन्दिर में दान राशि चोरी
देवली. पनवाड़ गांव स्थित बावड़ी बालाजी मन्दिर में रखे दान पात्र तोडकऱ चोरी करने का शनिवार को मामला सामने आया है। ग्रामीणों के अनुसार उक्त चोरी संभवतया गुरुवार रात हुई, जिसका पता देरी से लगा। वारदात में चोरों ने दान पात्र को सरिए की मदद से तोडकऱ उसमें रखी राशि चुरा ली। उल्लेखनीय है कि गत कुछ माह पहले भी उक्त मन्दिर में चोरी हुई थी।

प्याऊ की टंकी
हुई चोरी
पचेवर. थाना क्षेत्र के चांवडिया गांव में सार्वजनिक प्याऊ के लिए रखी गई पांच सौ लीटर प्लास्टिक की पानी की टंकी व वाल्व नलों को तोडकऱ अज्ञात चोर ले गए। चांवडिया सरपंच सोनी देवी चौधरी ने बताया कि गांव के मध्य चौराहे पर लगी प्याऊ से चोरों ने रात्रि में टंकी व अन्य सामना ले गए। सरपंच ने पचेवर थाने में चोरी का मामला दर्ज करवाया।

45 दिनों से हैयर ड्रैसर की दुकानें बंद, सहायता की मांग

बनेठा. कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर कस्बे सहित जिले के बाजार बंद है, जिसके कारण हैयर कंटिग सैलून की दुकानें चलाने वालों के समक्ष रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया है। हैयर कटिंग का काम करने वाले लोगों ने बताया कि सरकार लॉक डाऊन के चलते दुकानें 22 मार्च से बंद है। ऐसे में घर खर्च चलाना मुश्किल हो गया है। लगातार 45 दिनों से दुकाने बंद होने के कारण आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया है। केशकला एंव क्षौरकार से जुड़े लोगों ने कर्नाटक सरकार की तर्ज पर सरकार से दुकाने बंद होने की स्थिति मेंआर्थिक सहायता दिलाने की मांग की है।

Vijay Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned