कोरोना वायरस के मरीज मिलने की झूठी सूचना पर प्रशासन में मचा हडक़ंप

कोरोना वायरस के तीन मरीज मिलने की खबर से चिकित्सा प्रशासन हरकत में आ गया, लेकिन मौके पर पहुंची टीम को पूरे गांव में कोरोना वायरस से पीडि़त कोई नहीं मिला, जिसके बाद चिकित्सा प्रशासन ने राहत की सांस ली।

Jalaluddin Khan

20 Mar 2020, 08:07 PM IST

निवाई. रम्भा गांव में कोरोना वायरस के तीन मरीज मिलने की खबर से चिकित्सा प्रशासन हरकत में आ गया, लेकिन मौके पर पहुंची टीम को पूरे गांव में कोरोना वायरस से पीडि़त कोई नहीं मिला, जिसके बाद चिकित्सा प्रशासन ने राहत की सांस ली। जानकार सूत्रों के अनुसार गुरुवार सुबह एक न्यूज चैनल (पत्रिका नहीं) पर निवाई तहसील के गांव रंभा में तीन लोग कोरोना वायरस की पीडि़त मिलने की सूचना पर चिकित्सा प्रशासन के पांव फू ल गए। और आनन फ ानन में उच्चाधिकारियों को जानकारी देकर आगे के कार्यवाही के दिशा निर्देश मांगें।

इस पर तत्काल प्रभाव से कार्यवाहक ब्लॉक सीएमएचओं डॉ.सतपाल सिंह ने कोरोना वायरस की सुरक्षा के लिए तैनात दो टीमों में से राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की एक टीम को डॉ र्राधारानी शर्मा के नेतृत्व रंभा गांव के लिए रवाना कर दिया। टीम ने रंभा के उप स्वास्थ्य केन्द्र पर नियुक्त एएनएम सुधर्मा से सारी जानकारी ली। जहां ऐसा कोई मामला नजर नहीं आया। मेडिकल टीम में शामिल डॉ.पूजा चौधरी, फ ार्मासिस्ट किशन, एएनएम गीता और सुधर्मा ने गांव में खांसी-जुकाम के मरीजों के स्वास्थ्य परीक्षण किया और परीक्षण में कोई नहीं कोरोना वायरस से पीडि़त नहीं मिला।

चार जनों हो रही है जांच
डॉ. सतपाल सिंह ने यह भी बताया कि उपक्षेत्र के गांव हिंगोटिया में पति-पत्नी का 15 मार्च से कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है और 28 दिन तक रोजाना दोनों का स्वास्थ्य परीक्षण करेगी। इसी प्रकार गांव बहड़ और भांवती में भी एक-एक जने का टीम 28 दिन तक स्क्रीनिंग करेगी। उन्होंने बताया कि यह चारों विदेश यात्रा करके लौटे हैं। इसलिए स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। इनमें से कोई भी कोरोना से पीडि़त नहीं है।

Corona virus
jalaluddin khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned