सर्वे हुआ तो पता चला जिले में थे सम्भावित 50 हजार से अधिक कोरोना संक्रमित

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए शुरू की गई पहल के तहत कराए गए सर्वे में 50 हजार से अधिक सम्भावित लोगों को संक्रमित होने से बचा लिया। इन लोगों तक विभाग ने मेडिकल किट उपलब्ध कराया है।ऐसे में यह लोग अस्पताल आने से पहले ही स्वस्थ हो गए हैं।

By: pawan sharma

Published: 20 May 2021, 06:46 PM IST

टोंक. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए शुरू की गई पहल के तहत कराए गए सर्वे में 50 हजार से अधिक सम्भावित लोगों को संक्रमित होने से बचा लिया। इन लोगों तक विभाग ने मेडिकल किट उपलब्ध कराया है।ऐसे में यह लोग अस्पताल आने से पहले ही स्वस्थ हो गए हैं। किसी को अधिक तबीयत खराब होने पर ही अस्पताल में भर्ती कराया गया।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी का प्रकोप लगातार तेज होने और अस्पताल में रोगियों की संख्या में बढ़ोतरी होने पर मरीजों भर्ती करने में परेशानी हो रही थी। ऐसे में चिकित्सा विभाग ने सही वक्त पर कदम उठाते हुए जिले के घरों में सर्वे कराकर ही दवा पहुंचा दी। ऐसे में बड़ी संख्या में मरीज अस्पताल तक नहीं पहुंचे। चिकित्सा विभाग के अनुसार जिले के 53 हजार 40 घरों में मेडिकल किट पहुंचाए गए हैं। यह किट उन घरों में पहुंचाए गए जहां खांसी, बुखार व अन्य बीमारियां थी।

हो जाती विकट स्थिति
मेडिकल किट उक्त रोगियों के पास नहीं पहुंचता तो उन्हें अस्पताल में जाना पड़ता। कई को समय लग जाता तो स्थिति विकट हो जाती और अस्पताल में भर्ती करने वालों की भीड़ लग जाती, लेकिन चिकित्सा विभाग की सूझबूझ की नतीजा यह निकला कि लोगों तक घरों में ही मेडिकल किट पहुंचा दी गई। इस किट में खांसी, बुखार, एलर्जी व प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की दवा थी। ऐसे में लोगों ने घरों पर ही उपचार कर लिया।

31 लाख की हुई कई बार स्क्रीनिंग

उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी महबूब अंसारी ने बताया कि चिकित्सा विभाग ने घर-घर सर्वे के तहत जिले में 31 लाख 62 हजार 80 जनों की स्क्रीनिंग की है। हालांकि इनमें से कई की स्क्रीनिंग तीन से चार बार हो चुकी है। वहीं अब तक 6 लाख 4 हजार 407 घरों का सर्वे किया जा चुका है। अभी भी जिले में सर्वे चालू है।

कोविड वार्ड की व्यवस्थाएं परखी
देवली. जिला कलक्टर चिन्मयी गोपाल एवं पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश ने चिकित्सालय में बनाए कोविड वार्ड सेंटर का निरीक्षण किया। वार्ड की व्यवस्थाओं को लेकर आवश्यक निर्देश दिए। अधिकारियों ने राजमहल में चल रहे डोर टू डोर सर्वे का निरीक्षण भी किया।

कलक्टर ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर राज्य सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन की अनुपालना करवाने व डोर टू डोर सर्वे को सावधानी पूर्वक करने सहित विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की। इस दौरान जिला कलक्टर ने चिकित्सालय में बनाए गए कोविड वार्ड का भी निरीक्षण करते हुए संक्रमित मरीजों, चिकित्सा संसाधनों एवं उपलब्ध दवाइयों तथा बेड व्यवस्थाओं की जानकारी ली। कलक्टर के साथ जिला पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश, उपखण्ड अधिकारी भारत भूषण गोयल,तहसीलदार सर्वेश्वर निंबार्क मौजूद रहे।

Corona virus
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned