video @ ...चीन में कोरोना वायरस, चिंता टोंक में

Mohan Lal Kumawat

Updated: 28 Jan 2020, 02:15:47 PM (IST)

Tonk, Tonk, Rajasthan, India

टोंक. पड़ोसी देश चीन में फैल रहे जानलेवा कोरोना वायरस से शहर के एक दर्जन से अधिक परिवारों में चिंता का माहौल बना हुआ है। हालांकि चीन सरकार द्वारा वायरस को काबू पाने के पूरे प्रयास किए जा रहे है।


जानकारी अनुसार चीन के चौंचिंग मेडिकल युनिवर्सिटी के अलावा अन्य प्रान्त में जिले के करीब दो दर्जन बच्चे एमबीबीएस कर रहे है। चीन में कोरोना वायरस की खबरें मीडिया में आने के बाद परिजन छात्रों से सुबह-शाम बात कर रहे है। वहीं उनसे प्रभावित क्षेत्र एवं चीन सरकार की ओर से किए जा रहे इंतजामात के बारे में भी जानकारी ले रहे है। फिलहाल सभी लोगों को मुहं पर मास्क लगा कर एवं हाथों को ढक बाहर निकल रहे है।वापस बुलाया है


शहर के डाइट रोड निवासी एक छात्र के पिता भाग चंद ने बताया कि उसका पुत्र चौंचिग मेडिकल युनिवर्सिटी में चतुर्थ वर्ष में अध्ययनरत है। वायरस फैलने के बाद से उसकी प्रतिदिन सुबह-शाम बात हो रही है। हालांकि अभी वायरस का प्रभाव चौंचिंग तक नहीं हुआ है। फिर भी उसे कुछ समय के लिए वापस आने को कहा है।

सूजू में मिले रोगी से यहां बढ़ी चिंता
यांग्सू प्रांत के सूजू मेडिकल युनिवर्सिटी में इन्टरशिप कर रही जैनब ने पिता मोहम्मद जाहिद खान को सोमवार सुबह बताया कि कोरोना वायरस से पीडि़त एक रोगी मिलने के बाद शहर में परिवहन सेवाएं बंद कर दी गई है। तथा रोगी के बारे में पड़ताल की जा रही है। जाहिद खान ने रोग बढऩे से पहले उसे वापस आने का कहा है।



आइसोलेशन वार्ड में रहना होगा
सूजू मेडिकल युनिवर्सिटी में इंटरशिप कर रही अदिति शर्मा ने शिक्षक परमेश्वर शर्मा को बताया कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते सभी को बाहर नहीं निकलने की हीदायत दी गई है। तथा बाहर देश के रहने वाले छात्रों को कहा गया है कि जो जाना चाहे जा सकता है। तथा वापस आने पर १४ दिन तक आइसोलेशन वार्ड में रहना होगा। स्क्रीनिंग रिपोर्ट बाद ही उसे संबंधित स्थान पर भेजा जाएगा।

चीन के चोचिंग प्राप्त के चौचिंग मेडिकल युनिवर्सिटी में टोंक के १५ बच्चे पढ़ रहे है। फिलहाल १७ फरवरी तक छुट्टियां होने से कुछ बच्चे चीन से भारत जा चुके है। कोरोना वायरस से पास ही का प्रांत वुहान प्रभावित है। इस प्रांत में परिवहन सेवाएं पूर्ण रूप से बंद है। जनवरी में पहला केस मिला था।

चीन सरकार वायरस के प्रति सतर्क है। युनिवर्सिटी की ओर से फिलहाल वायरस के प्रकोप को देखते हुए छुट्टिया बढ़ाने के लिए कहा जा रहा है। वहीं यह वायरस बुजुर्गों को अधिक पकड़ रहा है।चीन के चौंचिग प्रांत में रह रहे टोंक निवासी गौरव चौपड़ा की पत्रिका से हुई दूरभाष पर हुई बात।

टोंक निवासी गौरव चौपड़ा की पत्रिका से हुई दूरभाष पर हुई बात।

corona virus in china
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned