बरकरार है टोंक जिले में कोरोना वायरस का प्रकोप

देवली में चिकित्सक समेत १३ जनों के लिए सेम्पल

By: Vijay

Published: 29 May 2020, 09:19 AM IST

टोंक. शहर के साथ अब ग्रामीण क्षेत्र भी कोरोना वायरस की जद में आने लगे हैं। शुरुआती दिनों में कोरोना वायरस के पॉजिटिव शहर में निकले, लेकिन अब ग्रामीण क्षेत्रों में पॉजिटिव आने लगे हैं। जिला कलक्टर के.के.शर्मा ने बताया कि जिले में अब तक 6672 लोगों के सेम्पल लिए गए हैैं। जिनमें 162 लोग कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं। अभी 124 नमूनों का परिणाम आना बाकी है। संस्थागत क्वारंटीन व कोविड केयर सेन्टर में 3 लोग है। पॉजीटिव से नेगेटिव होकर स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 136 है। अस्पताल से डिस्चार्ज किए गए मरीज 20 एवं कोरोना पॉजीटिव एक्टिव केस 5 है। एक की मृत्यु हो चुकी है।
श्रमिक स्पेशल बस से 100 प्रवासी श्रमिक टोंक से कोटा भेजे गए: जिला कलक्टर के. के. शर्मा ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान
जिले में फंसे हुए पश्चिम बंगाल राज्य के 100 प्रवासी श्रमिकों को गुरुवार को श्रमिक स्पेशल बसों के द्वारा टोंक से कोटा रेल्वे स्टेशन पहुंचाया गया। जहां से वे विशेष ट्रेन के द्वारा पश्चिम बंगाल के लिए रवाना किए गए। टोंक से 30,
मालपुरा से 9, निवाई से 54, देवली से 7 प्रवासी श्रमिक राजस्थान पथ परिवहन निगम की श्रमिक स्पेशल बसों के द्वारा कोटा रेल्वे स्टेशन भेजे गए।
जहां से वे अपने गृह राज्य के लिए रवाना हुए। उन्होंने बताया कि
जिला प्रशासन की ओर से प्रवासी श्रमिकों को मास्क, सेनेटाइजर, पानी की बोतल एवं भोजन के पैकेट उपलब्ध कराए गए।
१८ जनों की स्क्रीनिंग की


नटवाड़ा(टोंक). हतौना में एक गर्भवती महिला के कोरोना पोजीटिव आने से ग्रामीणों में हड़कम्प मच गई। ब्लॉक चिकित्साधिकारी कमलेश चावला ने बताया कि 27 मई को अस्पताल से महिला को डिस्चार्ज करने के बाद जांच रिपोर्ट में महिला पॉजीटिव आई है। पीएचसी पराना की मेडिकल टीम ने संक्रमित महिला के घर पहुंच कर महिला की ट्रैवल हिस्ट्री जानने के बाद 18 लोगों की स्क्रीनिंग की गई।
देवली. राजकीय अस्पताल में महिला के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद हड़कम्प मच गया। बुधवार रात ही अस्पताल परिसर को नगर पालिका ने सेनेटाइज कर दिया। महिला के सम्पर्क में आए चिकित्सक समेत १३ कर्मचारियों व व्यक्तियों के गुरुवार सुबह सेम्पल लिए गए, जिन्हें जांच के लिए टोंक मुख्यालय भेजा गया। आरआरटी टीम के डॉ. राजकुमार गुप्ता ने बताया कि उक्त महिला हनुमाननगर क्षेत्र के धुंवाला गांव निवासी है, जो गत २५ मई की रात प्रसव के लिए स्थानीय अस्पताल आई थी। इस रात महिला का प्रसव हो गया, लेकिन उसकी तबीयत खराब होने पर चिकित्साकर्मियों ने महिला को टोंक रैफर कर दिया। जहां महिला की कोरोना जांच करने पर वह संक्रमित पाई। चिकित्सालय प्रभारी डॉ. जगदीश मीणा ने बताया कि महिला के संक्रमित पाए जाने की सूचना के बाद वार्ड, लैबर रुम, खण्ड मुख्य चिकित्सा कार्यालय, चिकित्सक आवास सहित क्षेत्रों को रात में सेनेटाइज कर दिया। वहीं सुबह ऐतिहात के तौर पर तीन चिकित्सक, नर्सिंगकर्मी, एम्बूलेंस चालक सहित १३ जनों को सैम्पल लिए।

Vijay Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned