अस्पताल से घर पहुंच रहा कोरोना वायरस

कोरोना संक्रमितों के लिए सआदत अस्पताल में बनाए आईसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजों के लिए जिला प्रशासन की ओर से चाय, नाश्ता व भोजन आदि के लिए कोई व्यवस्था नहीं किए जाने के कारण भर्ती मरीजों के परिजनों को यह सब घर व बाजार से लाना पड़ रहा है।

By: pawan sharma

Published: 16 Apr 2021, 09:37 PM IST

टोंक. कोरोना संक्रमितों के लिए सआदत अस्पताल में बनाए आईसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजों के लिए जिला प्रशासन की ओर से चाय, नाश्ता व भोजन आदि के लिए कोई व्यवस्था नहीं किए जाने के कारण भर्ती मरीजों के परिजनों को यह सब घर व बाजार से लाना पड़ रहा है। जबकि गत वर्ष आईसोलेशन वार्ड में कोरोना सेें पीडि़त भर्ती सभी मरीजों सहित उनकी देखभाल के लिए रुकने वाले परिजनों के लिए चाय, नाश्ता व दोनों समय के लिए भोजन की व्यवस्था जिला प्रशासन की ओर से की गई थी।

इसी प्रकार संक्रमितों के लिए बनाए गए क्वॉरंटीन सेंटर पर भी खाने-पीने की सभी सुविधाएं जिला प्रशासन की ओर से उपल्ब्ध करवाई गई थी। जबकि कोरोना कि दूसरी लहर में पाए संक्रमितों के लिए आईसोलेशन वार्ड में ऐसी किसी भी प्रकार की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। इस प्रकार के गंभीर मामले में बरती जा रही लापरवही के कारण भर्ती मरीजों के साथ उनके परिजनों में भी जिला प्रशासन के प्रति रोष है।

आइसोलेशन वार्ड में भर्ती संक्रमितों व उनके परिजनों ने बताया कि वार्ड में उनके लिए होटल या घर से खाना आ रहा है। इसी तरह चाय व नाश्ता भी बाहर से ही मंगवाना पड़ रहा है। वार्ड में भर्ती मरीजों ने बताया कि शौचालय में पानी की कमी है। कई बार तो शौच के के बाद पानी के इंतजार में बैठा रहना पड़ता है।

मरीजों ने यह भी बताया कि पीने के पानी के लिए मरीजों को अलग से पानी की बोतल उपल्ब्ध करवाने के बजाय वार्ड में एक आरओ लगाया हुआ है, उसमें से कैम्पर भर कर दिया जा रहा है, जिसमें से वार्ड़ में भर्ती मरीजों को अपनी-अपनी बोतल में पानी लेकर पीना पड़ रहा है। मरीजों ने यह भी बताया कि 24 घंटे के लिए मात्र दो वार्ड ब्वॉय काम कर रहे है। मरीजों को कहना है कि परिजन ही संक्रमण के साए में आइसोलेशन वार्ड तक जाकर सामान आदि की पूर्ति कर रहे है।

पहले का चल रहा है बकाया
सूत्रों ने बताया कि पिछली बार शहर में बनाए गए क्वॉरंटीन सेन्टर व आइसोलेशन वार्ड में खाना, नाश्ता आदि सप्लाई के टिफिन सेन्टर का 30 हजार रुपए से अधिक का भुगतान भी अभी बाकि चल रहा है। भुगतान के लिए परिषद को भेजे बिलगत वर्ष कोरोना संक्रमण से लडऩे के लिए जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 के तहत की गई व्यवस्थाओं सहित अन्य कार्यों में खर्च हुई 61 लाख से अधिक के राशि के बिलों का भुगतान प्रशासन ने नगर परिषद के फण्ड से करवाया है, जबकि कोविड -19 में राहत के लिए आई राशि जिला प्रशासन को प्राप्त हुई थी।

पिछली बार कोरोना काल में सआदत अस्पताल स्थित आइसोलेशन वार्ड में कोरोना संक्रमितों सहित अन्य स्थानों पर बनाए गए क्वॉरंटीन सेन्टरों पर रखे गए लोगों लिए चाय, नाश्ता व दोनों समय के भोजन की व्यवस्था जिला प्रशासन की ओर से की गई थी। अस्पताल प्रबंध की ओर से अभी ऐसी कोई भी व्यवस्था करने के लिए उच्चाधिकारियों की ओर से किसी भी प्रकार के कोई भी निर्देश प्राप्त नहीं हुए है। -डॉ नवीन्द्र पाठक, प्रमुख चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सआदत अस्पताल टोंक।

व्यवस्था करेंगे
सआदत अस्पताल टोंक के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कोरोना संक्रमितों के लिए भोजन सहित चाय-नाश्ता की किसी को परेशानी आ रही है तो आवश्यकता पडऩे पर प्रशासन द्वारा खाने सहित अन्य आवश्यक सामान की पूर्ति लिए उसका समाधान किया जाएगा। फिलहाल अभी तक इस प्रकार की उनके पास कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुई है। मुरारी लाल शर्मा, अतिरिक्त जिला कलक्टर टोंक।

Corona virus
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned