चीरा लगाकर बैग से पार किए डेढ़ लाख रुपए

तीन जनों को पुलिस ने लिया हिरासत में
मालपुरा. उपखण्ड मुख्यालय पर शुक्रवार को मण्डी में स्थित स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया से दो लाख रुपए लेकर मां बेटी गांव जाने के लिए अजमेर रोड स्थित एक ज्यूस की दुकान पर बस का इंतजार कर रही थी, जहां पर अज्ञात लोगों ने बैग के चीरा लगाकर बैग में से डेढ़ रुपए पार कर लिए, जिसकी जानकारी मां-बेटी को होते ही हल्ला मचाना शुरु कर दिया, जिस पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।

By: jalaluddin khan

Published: 16 Apr 2021, 09:08 PM IST

चीरा लगाकर बैग से पार किए डेढ़ लाख रुपए

तीन जनों को पुलिस ने लिया हिरासत में
मालपुरा. उपखण्ड मुख्यालय पर शुक्रवार को मण्डी में स्थित स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया से दो लाख रुपए लेकर मां बेटी गांव जाने के लिए अजमेर रोड स्थित एक ज्यूस की दुकान पर बस का इंतजार कर रही थी, जहां पर अज्ञात लोगों ने बैग के चीरा लगाकर बैग में से डेढ़ रुपए पार कर लिए, जिसकी जानकारी मां-बेटी को होते ही हल्ला मचाना शुरु कर दिया, जिस पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।


वहीं घटना की जानकारी पुलिस को मिलते ही मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी गोपाल सिंह नाथावत ने तीन संदिग्ध लोगों से पूछताछ के लिए हिरासत में लिया।


जानकारी अनुसार कांटोली निवासी अमरी देवी एवं पुत्री रोशन बैरवा के सिकोईडिकोन संस्था द्वारा समूह लोन स्वीकृत किए जाने के लिए एसबीआई बैंक से अपने अपने खातों से एक-एक लाख रुपए बैग में रखकर अजमेर रोड गांव जाने के लिए एक ज्यूस की दुकान पर बस का इंतजार कर रही थी, जहां अज्ञात व्यक्ति ने बैंग के चीरा लगाकर उसमें रखे दो लाख रुपयों में से डेढ़ लाख रुपए पार कर लिए।


घटना की जानकारी मां-बेटी को मिलते ही चिल्लाना शुरु कर दिया, जिस पर आस-पास के लोगों एकत्र हो गए तथा घटना की जानकारी थाना पुलिस को दी, जिस पर थाना प्रभारी गोपाल सिंह नाथावत मय दल बल के मौके पर पहुंचे तथा घटना की जानकारी लेकर पुलिस ने तीन संदिग्ध लोगों से पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया।


रिश्वत में पकड़े गए आरोपियों को भेजा जेल
टोंक. खातेदारी भूमि का नामांतकरण खुलवाने के लिए परिवादी के पक्ष में निर्णय कराने की एवज में गिरफ्तार किए गए सरकारी व अन्य अधिवक्ता को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने शुक्रवार को एसीबी न्यायालय अजमेर में पेश किया।


जहां से उन्हें 30 अप्रेल तक न्यायिक अभिरक्षा में भेजा है। एसीबी की टीम ने गुरुवार को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते जिला कलक्टर न्यायालय के सरकारी वकील जुगनू शर्मा और परिवादी के वकील बसंत कुमार जैन को गिरफ्तार किया था।


अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आहद खान ने बताया कि चोरू तहसील उनियारा निवासी परिवादी बसंत कुमार पुत्र रामदेवी सैनी निवासी ने परिवाद दिया था कि उसकी खातेदारी भूमि का नामांतकरण सम्बन्ध में मामला जिला कलक्टर न्यायालय में दर्ज है।

इसमें परिवादी के पक्ष में निर्णय कराने और सरकार की ओर से अपील नहीं कराने की एवज में राजकीय अधिवक्ता जुगनू शर्मा ने निजी अधिवक्ता बसंत कुमार जैन की मार्फत 20 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी।


बाद में दोनों के बीच 10 हजार रुपए तय हुए। परिवाद के बाद एसीबी ने जांच की और परिवादी को 10 हजार रुपए रंग लगाकर दे दिए। परिवादी ने सरकारी अधिवक्ता जुगनू शर्मा को रुपए दे दिए। बाद में एसीबी की टीम ने दोनों वकीलों को पकड़ लिया था। टीम ने दोनों आरोपियों को न्यायालय में पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया।

jalaluddin khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned