अस्थायी अतिक्रमण से आए दिन लग रहा जाम, पंचायत प्रशासन ने नोटिस देकर कार्रवाई की दी चेतावनी

अस्थायी अतिक्रमण से आए दिन लग रहा जाम, पंचायत प्रशासन ने नोटिस देकर कार्रवाई की दी चेतावनी

Pawan Kumar Sharma | Publish: Sep, 02 2018 03:29:39 PM (IST) Tonk, Rajasthan, India

आड़े-तिरछे वाहन एवं फ ल सब्जी के ठेले खड़े कर देने के कारण बाजार में भीड़ भाड़ रहती है, जिसके चलते 108 व एंबुलेंस गंभीर मरीजों लेकर आने के दौरान बाजार में जाम में फंस जाती हैं।

 

अलीगढ़. कस्बे में दशहरा मैदान से लेकर बस स्टैण्ड तक हो रहे अस्थायी अतिक्रमण के कारण जाम से निजात दिलाने के लिए थानाधिकारी ने अस्थायी अतिक्रमण हटवाया। वहीं अतिक्रमण नहीं हटाने पर कार्रवाई की चेतावनी दी।

 

गौरतलब है कि अलीगढ़ में अतिक्रमण के चलते आए दिन जाम की स्थिति बनी रहती हैं। ऐसे में थाना प्रभारी सत्यनारायण चौधरी ने आड़े-तिरछे लगा रखे ठेला चालकों-फुटपाथ पर सब्जी बेचने वाली महिलाओं एवं व्यापारियों द्वारा सडक़ पर सामान रखने वाले अस्थायी अतिक्रमियों को लगने वाले जाम की समस्या के बारे में बताया। थाना प्रभारी ने बताया कि अस्थायी अतिक्रमियों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके बाद भी अतिक्रमण नहीं हटाया तो उचित कार्रवाई की जाएगी ।

 

पंचायत प्रशासन नहीं कर रहा कार्रवाई
पंचायत प्रशासन ने दिखावे के तौर पर अतिक्रमियों को नोटिस देकर चेताया। वहीं पंचायत अतिक्रमियों से रसीद काट कर आय करने में जुटा हुआ है। इससे अतिक्रमियों के हौसले बुलंद हैं। लोगों का आरोप है कि पंचायत प्रशासन दिखावे के तौर पर अतिक्रमण हटाना चाहती हैं, लेकिन कार्रवाई नहीं करना चाहती है।

 


एम्बुलेंस फंस जाती है
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कस्बे के बीच स्थित है। इससे एंबुलेंस बाजार होकर गुजरती हैं। आड़े-तिरछे वाहन एवं फ ल सब्जी के ठेले खड़े कर देने के कारण बाजार में भीड़ भाड़ रहती है, जिसके चलते 108 व एंबुलेंस गंभीर मरीजों लेकर आने के दौरान बाजार में जाम में फंस जाती हैं। एम्बुलेंस के फंसने से कई बार प्रसव भी एंबुलेंस में ही हो गया।


बीसलपुर पाइंट तोडऩे से पेयजल संकट
निवाई. हिंगोनिया में प्रभावशाली लोगों ने बीसलपुर परियोजना का पाइंट को तोड़ दिया। इससे ग्रामीणोंं में नाराजगी है। ग्रामीण पंचायत समिति प्रशासन से लेकर जिला कलक्टर ज्ञापन सौंपा है, लेकिन सुनवाई नहीं हो रही। इसके चलते 15 दिन से ग्रामीणों को पानी के लिए परेशान होना पड़ रहा है। ग्रामीण रामप्रताप गुर्जर ने बताया कि प्रभावशाली लोगों ने जबरदस्ती से बीसलपुर परियोजना अंतर्गत लगाए गए पाइंट को तोड़ दिया। ग्रामीणों ने विधायक हीरालाल रैगर, पंचायत समिति प्रधान तथा जिला कलक्टर को ज्ञापन भेजकर पाइंट को दुरुस्त कराने की मांग की है, लेकिन प्रशासनिक कर्मचारियों की मिलीभगत के चलते दुरुस्त नहीं किया गया। इससे ग्रामीणों में नाराजगी है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned