लिखित में मुआवजा दिलाने का आश्वासन देने पर शव लेने को राजी हुए परिजन

pawan sharma

Publish: Sep, 16 2017 02:48:52 PM (IST)

Gulzar Bagh, Tonk, Rajasthan, India
लिखित में मुआवजा दिलाने का आश्वासन देने पर शव लेने को राजी हुए परिजन

करंट से कारीगर की मृत्यु के मामले में गुरुवार रात 9 बजे परिजनों व प्रशासनिक अधिकारियों के बीच समझौता हो गया।

देवली.

शहर के कुंचलवाड़ा रोड स्थित कॉलोनी में निर्माण के दौरान करंट से कारीगर की मृत्यु के मामले में गुरुवार रात 9 बजे परिजनों व प्रशासनिक अधिकारियों के बीच समझौता हो गया। सहायक अभियंता डी. के. जैन ने लिखित में 3 से 5 लाख रुपए का मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया।

 

इसके बाद ही परिजन शव लेने को राजी हुए। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया। उल्लेखनीय है कि निर्माणाधीन मकान में पेडा बांधने के दौरान गुरुवार दोपहर कारीगर मोहनलाल पुत्र भागुता रैगर की करंट लगने से मृत्यु हो गई थी। काम कर रहा श्रमिक मानसिंह मीणा झुलस गया था। उसे राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

 

इसके बाद परिजनों व कॉलोनी के लोगों ने पोस्टमार्टम कराने व शव लेने से इनकार कर दिया। हनुमाननगर थाना प्रभारी घीसालाल राव ने परिजनों को समझाया, लेकिन परिजन जयपुर डिस्कॉम पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए सहायता राशि दिलाने की मांग पर अड़ गए।

 

शाम करीब 6 बजे जहाजपुर विधायक धीरज गुर्जर, पूर्व जिला परिषद सदस्य पृथ्वीराज मीणा समेत जनप्रतिनिधि भी देवली अस्पताल आ गए। जहां वे पीडि़त परिजनों को आर्थिक सहायता राशि दिलाने की मांग पर धरने पर बैठ गए। एसडीओ रवि वर्मा, तहसीलदार मानसिंह आमेरा ने समझाने का प्रयास किया।

 

रात करीब 9 बजे जयपुर डिस्कॉम के सहायक अभियंता डी. के. जैन ने लिखित में मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया। तब जाकर परिजनों ने शव लिया।

 

कार की टक्कर से दो भैंसों की मौत
राजमहल. संथली मार्ग पर गुरुवार रात कार की टक्कर से दो भैंसों की मौत हो गई। पीडि़त देवीखेड़ा निवासी शिवपाल गुर्जर ने दूनी थाने में इसका मामला दर्ज कराया है। इसमें बताया कि गत बुधवार को उसकी भैंसें खेत से चरती हुई संथली की तरफ निकल गई थी।

 

इन्हें ढूंढ़ते हुए संथली की तरफ गया। जहां देवली की तरफ से तेज गति से आ रही कार ने भैंसों के टक्कर मार दी। इससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई। पोल्याड़ा पुलिस चौकी प्रभारी जगदीश प्रसाद चौधरी ने कार जब्त की है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned