वाल्मिकी समाज ने की लॉटरी के बजाय सिधी भर्ती की मांग, सफाई कर्मचारियों की भर्ती में अन्य जातियों को शामिल करने का भी कर रहे विरोध

समाज के लोग परम्परागत रूप से इस कार्य में लगे हुए हैं। ऐसे में भर्ती प्रक्रिया में वाल्मीकि समाज के लोगों को विशेष प्राथमिकता दी जाए।

By: pawan sharma

Published: 24 May 2018, 09:48 AM IST

निवाई. सफाई कर्मचारी यूनियन संघ के अध्यक्ष हीरालाल नकवाल के नेतृत्व में बुधवार को सफाईकर्मियों एवं वाल्मिकी समाज के लोगों ने जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों को ज्ञापन सौपकर सफाई कर्मचारियों की भर्ती में अन्य जातियों को शामिल करने का विरोध किया है।

 

मुख्यमंत्री के नाम सौपे गए ज्ञापन में बताया कि सरकार द्वारा सफाई कर्मचारियों की भर्ती 14 अप्रेल को निकाली गई थी। इसमें अन्य जातियों को प्राथमिकता नहीं देते हुए वाल्मीकि समाज को दी जाए एवं लॉटरी सिस्टम नहीं करके कर्मचारियों की सिधी भर्ती की जाए।

 

उन्होंने विधायक हीरालाल रैगर, उपखण्ड अधिकारी हरिताभ आदित्य, नगरपालिका अध्यक्ष राजकुमारी शर्मा, अधिशासी अधिकारी पूजा मीणा को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौपकर मांगों को लेकर नगरपालिका के बाहर प्रदर्शन किया। ज्ञापन देने वालों मे संघ के उपाध्यक्ष विनोद चावरिया, सत्यनारायण नकवाल, सूर्य नारायण, नवल, लाल चन्द, रामबाबू, प्रेमचन्द, राकेश, शिव कुमार, गीता, सम्पत, इन्द्रा, प्रेम, सन्तोष, राकेश एवं सागर मौजूद थे।

 

 


भर्ती प्रक्रिया साक्षात्कार के जरिए की जाए

मालपुरा. अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा के लोगों के प्रतिनिधि मण्डल ने बुधवार को मुख्यमंत्री के नाम
उपखण्ड अधिकारी शंरलाल सैनी को ज्ञापन सौंपकर सफाई कर्मचारियों की भर्ती में वाल्मीकि समाज के लोगों को प्राथमिकता देेने की मांग की।

 


महासभा के शहर अध्यक्ष शशि गोयर, पवन, बुद्धिप्रकाश, राकेश, सुरेश, अमन गोयर, चेतन वाल्मीकि सहित कई लोगों की ओर से सौंपे ज्ञापन में बताया कि समाज के लोग परम्परागत रूप से इस कार्य में लगे हुए हैं। ऐसे में भर्ती प्रक्रिया में वाल्मीकि समाज के लोगों को विशेष प्राथमिकता दी जाए।

 

ज्ञापन में बताया कि अल्प वेतन भोगी होने के चलते शिक्षा के क्षेत्र में समाज बहुत पिछड़ा हुआ है। भर्ती प्रक्रिया में प्रथम प्राथमिकता प्रदान की जाए तथा भर्ती प्रक्रिया भी साक्षात्कार के जरिए की जाए।

 

 

महानरेगा कार्मिक संघ का धरना
अलीगढ़ . पंचायत समिति कार्यालय परिसर में राजस्थान मनरेगा कार्मिक संघ तहसील शाखा का विभिन्न मांगों को लेकर ब्लॉक स्तरीय धरना बुधवार को 23वें दिन भी जारी रहा। गत 22 दिनों से मनरेगा के कार्मिकों के हड़ताल पर जाने से ग्राम पंचायतों व पंचायत समिति में महानेरगा योजना से सम्बंधित कार्य पूरी तरह प्रभावित है।

 

महानरेगा संविदा कार्मिक संघ तहसील शाखा अध्यक्ष बहादुरमल जैन ने बताया कि सरकार द्वारा मांगे नहीं माने जाने तक आन्दोलन जारी रहेगा। इस अवसर पर रोजगार सहायक बुद्धराज सिंह, कमल खटीक, पूरणमल मीना, रामदेव मीना, केसरलाल कोली, रामसहाय बलाई, प्रहलाद, हनुमान गुर्जर, डाटा एंट्री कम्प्यूटर आंपरेटर रामदयाल कुशवाह आदि मौजूद थे।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned