देवली सीआइएसएफ ने मनाया इको फ्रेण्डली नवरात्र महोत्सव, बल परिसर में पॉलिथिन पर लगाया पूर्ण प्रतिबंध

देवली सीआइएसएफ ने मनाया इको फ्रेण्डली नवरात्र महोत्सव, बल परिसर में पॉलिथिन पर लगाया पूर्ण प्रतिबंध
देवली सीआइएसएफ ने मनाया इको फ्रेण्डली नवरात्र महोत्सव, बल परिसर में पॉलिथिन पर लगाया पूर्ण प्रतिबंध

Vijay Kumar Jain | Updated: 09 Oct 2019, 04:40:59 PM (IST) Tonk, Tonk, Rajasthan, India

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पॉलिथिन बंद कर पर्यावरण को सहयोग देने के संदेश का असर सीआइएसएफ आरटीसी की ओर से मनाए गए नवरात्र महोत्सव में देखने को मिला।

देवली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पॉलिथिन बंद कर पर्यावरण को सहयोग देने के संदेश का असर सीआइएसएफ आरटीसी की ओर से मनाए गए नवरात्र महोत्सव में देखने को मिला। जहां नवरात्र के हर आयोजन को पॉलिथिन से दूर रखा गया। इस दौरान नौ दिनों से चल रहे महोत्सव का सोमवार को भण्डारे के साथ समापन हुआ।

ऐसे में उक्त भण्डारा पूर्णतया इको फ्रेण्डली रहा। नवमी पर बल के डीआइजी दिग्विजय कुमार सिंह ने मां दुर्गा की प्रतिमा की विधिवत् पूजा अर्चना कर भोग लगाया। वहीं हवन में मंत्रोच्चार के साथ हवन में आहुतियां दी। इसके बाद डीआइजी, वरिष्ठ कमाण्डेंट डॉ. भूपेन्द्र सिंह, उपकमाण्डेंट नवीन कुमार सहित अधिकारियों ने कन्याओं के पैर जल से धोएं तथा मेहन्दी लगाकर कन्याओं को भोजन कराया।

भोजन के बाद अधिकारियों ने सभी कन्याओं चूनरी भेंट कर शृंगार सामग्री भेंट की। इस दौरान राजस्थान पुलिस, महिला जेल प्रहरी, यूपी पुलिस व पीसी कोर्स कर रहे जवानों ने भण्डारें मेें प्रसादी ग्रहण की। उन्होंने बताया कि बाजार जाने वाले बल सदस्य कपड़े का थैला लेकर ही बाहर जाएगा।

वहीं बाहर से पॉलिथिन लाने वाले किसी अधिकारी व जवानों को भीतर प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इस दौरान सहायक कमाण्डेंट जगराम मीना, हनुमान सिंह, शुभम् मिश्रा, एच. बी. एल. मीणा सहित अधिकारी उपस्थित थे। सहायक कमाण्डेंट एच. बी. एल. मीणा ने बताया कि मंगलवार को मां दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन किया जाएगा। इससे पहले शहर में शोभायात्रा निकाली जाएगी।

भक्तामर पाठ में स्थापित किए 48 दीपक
पीपलू (रा.क.). कस्बे में जैन श्रद्धालुओं द्वारा भक्तामर पाठ का आयोजन किया गया। कार्यक्रम से पहले भगवान आदिनाथ के समक्ष दीप प्रज्जवलन करने का सौभाग्य महावीर प्रसाद, बाबूलाल, कमलेश कुमार, अशोक कुमार मेडिकल वाले को मिला।

इसमें श्रद्धालुओं ने भगवान आदिनाथ के समक्ष 48 भक्तामर श्लोक के 48 दीपदान किया। कार्यक्रम में 48 रिद्धि मंत्रों का उच्चारण कर दीपदान किए गए। कार्यक्रम में महिलाओं ने सामूहिक रुप से भजनों की प्रस्तुतियां दी। इस दौरान काफी संख्या में समाजबंधु मौजूद रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned