जयपुर में देवली के छह युवक क्रिकेट मैच पर सट्टा लगवाते पकड़े, कुल 9 गिरफ्तार


7 करोड़ रुपए के हिसाब की पर्चियां मिली
कई अन्य सामान भी मिला

By: Vijay

Updated: 15 Sep 2020, 09:40 AM IST


टोंक. जयपुर कमिश्ररेट की क्राइम ब्रांच ने प्रताप नगर थाना क्षेत्र में इंग्लैण्ड-आस्ट्रेलिया के वनडे क्रिकेट मैच पर ऑनलाइन सट्टा लगवाते 9 लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों सेे 37.50 लाख रुपए, 7 करोड़ रुपए के हिसाब की पर्चियां और अन्य सामान जब्त किया है। पुलिस ने दावा किया है कि क्रिकेट मैच पर सट्टे के दौरान अब तक सबसे बड़ी रकम पकड़ी गई है।
पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि टोंक के देवली निवासी अंकित जैन, योगेश जैन, अतुल मंगल, आशीष जैन, रवि जैन, अजमेर के केकड़ी निवासी प्रदीप जैन, नितिन कुमार जैन प्रतापनगर निवासी शुभम जैन और भीलवाड़ा के हनुमान नगर निवासी मनीष वेदी को गिरफ्तार किया है।आरोपियों से रुपए व हिसाब की पर्चियों के अलावा 3 बाइक, 4 स्कूटी, एक लग्जरी कार, 2 लेपटॉप, 13 मोबाइल, एलईडी, हार्ड ***** सहित कई उपकरण बरामद किए हैं। एएसआइ द्वारका प्रसाद सोनी को प्रताप नगर सेक्टर 10 के एक मकान में सट्टा लगवाए जाने की सूचना मिली। एडिशनल डीसीपी सुलेश चौधरी के नेतृत्व में सोमवार सुबह टीम ने मकान पर दबिश दे आरोपियों को रंगे
हाथ पकड़ा।
गुजरात व दुबई से जुड़े तार
आरोपियों ने डायमंड एक्सचेंज की वेबसाइट के डाटा चुराकर खुद की चार अलग वेबसाइट जारी कर रखी थी। यह आरोपी गुजरात व दुबई में बैठे बड़े सटोरियों से जुड़े हुए थे। गिरोह का सरगना नितिन बीटेक की पढ़ाई की है। सरगना अहमदाबाद निवासी राजेश भाई उर्फ सिकन्दर और मयूर भाई के कहने पर जयपुर में सट्टा चला रहा था। बीटेक के बाद सट्टा
आरोपी अंकित कुमार भी बीटेक कर चुका। वह पहले एक आईटी कंपनी में काम करने के साथ वेबसाइट बनाने का काम कर रहा था। आरोपी अंकित नितिन के साथ ऑनलाइन गेम बनाने का काम भी करता था। बाद में आरोपी सट्टा लगवाने लगे।
कौन थे संपर्क में, तलाश जारी
पुलिस ने बताया कि आरोपियों के संपर्क में कौन लोग सट्टा लगा रहे थे, इस संबंध में जानकारी जुटाई जा रही है। आरोपी अलग-अलग इंटरनेट डोंगल व सिम कार्ड जारी करवाकर सट्टा लगवाते थे।

Vijay Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned