चार घंटे देरी से पहुंची मेडिकल टीम, शिविर में भटकते रहे दिव्यांग व परिजन

चार घंटे देरी से पहुंची मेडिकल टीम, शिविर में भटकते रहे दिव्यांग व परिजन

 

By: pawan sharma

Published: 17 Oct 2020, 11:14 AM IST

पीपलू (रा.क.). पीपलू में शुक्रवार को तहसील स्तरीय मेडिकल सर्टिफिकेट वितरण शिविर में प्रशासन की ओर से लापरवाही देखने को मिली। जहां शिविर में करीब 2 बजे तक मेडिकल टीम के नहीं पहुंचने से 11 पंचायतों से पहुंचे सैकड़ों की संख्या में दिव्यांग परेशान रहे।


कई दिव्यांग चलने फिरने सहित बैठने में असक्षम तथा कुछ मानसिक पीडि़त होने से परिजनों को यह इंतजार करना काफी भारी पड़ा। जबकि 16 दिन पहले 1 अक्टूबर को ही शिविर के निर्धारण को लेकर पंचायत समिति विकास अधिकारी बृजमोहन गुप्ता द्वारा जारी सूचना के बाद भी चिकित्सा विभाग बेखबर रहा हैं।


शिविर में ग्राम पंचायत सरपंच कविता सैनी सहित पंचायतों के ग्राम विकास अधिकारी, पंचायत समिति प्रचार प्रसार अधिकारी पहुंचे। और उच्चाधिकारियों को 10 बजे तक भी मेडिकल टीम के नहीं पहुंचने की जानकारी दे दी थी। वहीं टोंक सीएमएचओ ने मेडिकल टीम का गठन करने में 1 बजे तक का समय लगा दिया।

पंचायत समिति द्वारा शिविर में अनुमानित दिव्यांग की चिह्नित संख्या 134 थी, जिसके अनुसार 100 से अधिक दिव्यांग एवं उनके परिजन शिविर में पहुंचे। लेकिन मेडिकल टीम से दोपहर 1 बजकर 42 मिनट पर नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. आरएस शर्मा पहुंचे। वहीं मेडिकल टीम के अन्य 3 विशेषज्ञ चिकित्सक दोपहर 2 बजे बाद पहुंचे।

पीपलू में दिव्यांगजन प्रमाणीकरण शिविर की जानकारी नहीं थी। वह वीसी में थे, तब शिविर स्थल से फोन आया तो पंचायत समिति विकास अधिकारी से बात की। पंचायत समिति एवं चिकित्सा विभाग के आपसी सामंजस्य की वजह से मेडिकल टीम समय पर नहीं पहुंची। मेडिकल टीम का तुरंत गठन कर 2 बजे तक टीम पीपलू शिविर में पहुंच गई थी।
रवि वर्मा, उपखंड अधिकारी पीपलू

सोशल डिस्टेंसिग की उडी धज्जियां

उनियारा. राजकीय सरदार सीनियर माध्यमिक विद्यालय में शिविर में दिनभर अव्यवस्थाओं का आलम रहा। शिविर के दौरान अधिकांश दिव्यांगों को चालीस प्रतिशत से कम विकलांगता दिखाकर घर भेज दिया गया। कुछ दिव्यांग विशेष योग्यजन को जिला मुख्यालय के लिए भी रैफर कर दिया गया।

शिविर के दौरान दिव्यांगों एंव उनके परिजनों को रजिस्ट्रेशन के लिए भटकना पड़ा। शिविर के दौरान कोरोना एडवायजरी की पालना नही की गई। एक तरफ प्रशासन द्वारा गांवो मे जाकर सोशल डिस्टेंसिग की पालना नहीं करने एंव बिना मास्क के होने पर चालान किए जाते है, लेकिन उपखंड अधिकारी कार्यालय के समीप आयोजित शिविर मे सोशल डिस्टेंसिग की जमकर धज्जिया उडा़ई गई।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned