बजट में दूनी को मिला कन्या महाविद्यालय, सरपंच के नेतृत्व में ग्रामीणों ने मनाई खुशियां

मुख्यमंत्री की ओर से पेश बजट 2021 अभिभाषण में तहसील मुख्यालय दूनी में कन्या महाविद्यालय खोलने की घोषणा किए जाने पर बस स्टेण्ड पर दर्जनों कांग्रेस पदाधिकारी-कार्यकर्ता एवं ग्रामीण एकत्रित हो गए ओर महाविद्यालय खोले जाने की घोषणा पर आतिशबाजी कर मुख्यमंत्री सहित क्षेत्रीय विधायक हरीशचंद मीणा एवं देवली पंचायत समिति प्रधान गणेशराम जाट का आभार जताया।

By: pawan sharma

Updated: 25 Feb 2021, 05:01 PM IST

दूनी. मुख्यमंत्री की ओर से पेश बजट 2021 अभिभाषण में तहसील मुख्यालय दूनी में कन्या महाविद्यालय खोलने की घोषणा किए जाने पर सरपंच रामअवतार बलाई के नेतृत्व में बुधवार बस स्टेण्ड पर आतिशबाजी कर मिठाईं वितरित कर खुशियां मना मुख्यमंत्री, क्षेत्रीय विधायक एवं देवली प्रधान का आभार जताया। सागर सैनी ने बताया कि बजट 2021 अभिभाषण में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से कस्बे में कन्या महाविद्यालय खोले जाने की घोषणा किए जाने के बाद सरपंच बलाई के नेतृत्व में बस स्टेण्ड पर दर्जनों कांग्रेस पदाधिकारी-कार्यकर्ता एवं ग्रामीण एकत्रित हो गए ओर महाविद्यालय खोले जाने की घोषणा पर आतिशबाजी करने के साथ ही मिठाई वितरित कर मुख्यमंत्री सहित क्षेत्रीय विधायक हरीशचंद मीणा एवं देवली पंचायत समिति प्रधान गणेशराम जाट का आभार जताया।

गौरतलब है कि दूनी में महाविद्यालय खोले जाने की मांग को लेकर सरपंच बलाई सहित पदाधिकारियों ने प्रधान, विधायक, कलक्टर, उच्च शिक्षा मंत्री, मुख्यमंत्री को कई बार ज्ञापन देकर अवगत कराया था। इस दौरान कांग्रेस ब्लॉक महासचिव नरेन्द्र मेहरा, ताराचंद मुन्दड़ा, चन्द्रप्रकाश मेवाड़ा, वार्डपंच देवकीनन्दन शर्मा, जीएसएस अध्यक्ष मोतीलाल मेहरा, सहित सागर सैनी, मोरपाल गुर्जर, देवलाल गुर्जर, गंगाधर सेन, बद्रीलाल मेहरा, रामजी मेहरा सहित पदाधिकारी एवं ग्रामीण भी थे।


बालिकाओं की उच्च शिक्षा का सपना हुआ साकार
पेश हुए राज्य बजट में तहसील मुख्यालय दूनी पर कन्या महाविद्यालय खोले जाने की घोषणा से बालिकाओं की उच्च शिक्षा का सपना साकार हुआ है। हालांकि बजट में महिलाओं को रसोई की महंगाई सहित अन्य विशेष राहत नहीं मिल पाई। वही कस्बेवासियों की एसडीओ कायर्यालय, पंचायत समिति सहित कई मांगे अभी अधर-झुल में है।
मिथलेश कंवर, दूनी

2. अन्नदाता किसानों को बड़ी उम्मीद थी, मगर आज पेश हुए बजट में उन्हें कुछ नहीं मिल पाया। सरकार किसान परिवारों एवं उनके बालक-बालिकाओं के लिए कुछ विशेष देती तो खुशहाल एवं समृद्धि की ओर अग्रसर होते।
मीरा गुर्जर, दूनी

पेश हुआ बजट राहत देने वाला नहीं था, शिक्षा, चिकित्सा, खेती-किसानी सहित अन्य राहत आमजन को नहीं मिल पाई। हालांकि दूनी में कन्या महाविद्यालय की घोषणा से बालिका शिक्षा मजबूत होंगी।
रीनाप्रभा कंवर, दूनी

Budget 2021
Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned