जलापूर्ति में अनियमितता बरतने पर महिलाओं ने एईएन को सुनाई खरी-खोटी

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

By: pawan sharma

Published: 29 Mar 2019, 01:22 PM IST

 

टोडारायसिंह. गर्मी शुरू होने से पहले कस्बे में पेयजल संकट मंडराने लगा है। गुरुवार को पिछले माह से 48 घंटे में हो रही जलापूर्ति में भी अनियमितता बरतने को लेकर खफा महिलाएं जन स्वास्थ्य अभियान्त्रिक विभाग कार्यालय पहुंच गई। उन्होंने सहायक अभियंता से पेयजल समस्या से अवगत कराते हुए आपूर्ति सुचारू कराने की मांग की है।

 

वार्ड 15 व 16 की दो दर्जन से अधिक महिलाएं सहायक अभियंता कार्यालय पहुंची। जहां उन्होंने मौके पर मौजूद सहायक अभियंता दिनेश मीणा को पेयजल समस्या को लेकर खरी-खोटी सुनाई।

 

महिलाओं ने बताया कि पिछले माह से 48 घंटे में जलापूर्ति करने के बावजूद वार्ड 15 व 16 में पर्याप्त जलापूर्ति नहीं होने से मोहल्लेवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। स्थिति यह है कि कई घरो में एक-दो मटकी भरने के साथ जलापूर्ति बंद हो जाती है। उन्होंने आपूर्ति सुचारू नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।


आपूर्ति की सूचारू
बीसलपुर-अजमेर की ढाई दशक पुरानी क्षतिग्रस्त जलापूर्ति पाइप लाइन को 32 घंटे बाद दुरुस्त करवा कर जलापूर्ति सुचारू की गई। मेंटिनेंस इंचार्ज रामकिशन जाट ने बताया कि पाइप लाइन टूटने के बाद आपू्र्ति बंद करवा कर एयर वाल्व से पानी निकासी के बाद मरम्मत कार्य शुरू किया।

 

बुधवार देर रात लाइन को दुरुस्त किया जाना था, लेकिन पानी निकासी में समय अधिक लगने से गुरुवार दोपहर बाद करीब साढ़े 4 बजे बाद लाइन दुरुस्त हो पाई। पौने 5 बजे बाद थड़ोली से आपूर्ति शुरू की गई।

 

हालांकि जलापूर्ति प्रभावित नहीं हो इसके लिए पूर्वत: दूसरी पाइप लाइन से आपूर्ति जारी रही। मंगलवार सुबह साढ़े 9 बजे उक्त पाइप लाइन भासू गांव के निकट बायपास पर टूट गई, जिससे 1500 एमएम की सीमेंट पाइप
लाइन के अचानक टूटने से पानी बह गया था।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned