कर्मचारियों ने सौंपा ज्ञापन, आदेशों की प्रतियां जलाकर किया विरोध

कर्मचारियों ने सौंपा ज्ञापन, आदेशों की प्रतियां जलाकर किया विरोध

 

By: pawan sharma

Published: 10 Sep 2020, 07:14 PM IST

टोंक. अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महसंघ जिला शाखा की ओर से बुधवार को सरकार के वेतन कटौती के आदेश की प्रतियों को जलाकर विरोध-प्रदर्शन किया गया। उन्होंने मुख्यमत्री के नाम अतिरिक्त जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। इसमें वेतन कटौती का आदेश वापस लेने की मांग की है। जिलाध्यक्ष रामनारायण चौधरी, संरक्षक मेहमूद शाह, जिला महामंत्री सज्जनसिंह, महावीर, रघुनाथसिंह, लादूराम, लक्ष्मीणनारायण, हरिनारायण बैरवा आदि ने बताया कि कर्मचारियों की सहमति के बिना सरकार की ओर से वेतन कटौती की जा रही है। पहले भी कर्मचारियों का वेतन काट लिया गया और अब प्रतिमाह काटने के आदेश जारी किए हैं। इससे कर्मचारियों में नाराजगी है। उन्होंने इसका विरोध करते हुए प्रतियां जलाकर प्रदर्शन किया है।

शिक्षकों ने सौंपा ज्ञापन
टोंक. राजस्थान प्राथमिक एवं माध्यमिक संघ जिला शाखा की ओर से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया। जिला मंत्री अख्तर हुसैन ने बताया कि जिलाध्यक्ष हंसराज मीणा, शब्बीर मसूद, शिवराज यादव, आरिफ मेहमूद, विक्रम सिंह आदि ने बताया कि सरकार की ओर से की गई वेतन कटौती कर्मचारियों के हितों पर कुठाराघात है। उन्होंने कटौती का विरोध किया है।
वेतन कटौती को लेकर राजस्थान शिक्षक संघ अम्बेडकर ने मुख्यमंत्री के नाम अतिरिक्त जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। इसमें जिलाध्यक्ष हरिराम, रमेशचंद, सर्वेश मेहरा, छोटूलाल, ओमप्रकाश, राजेश चंदेल आदि ने बताया कि सरकार ने कोविड-19 के तहत सितम्बर से प्रति माह दो दिन के वेतन कटौती व समर्पित अवकाश के नकद भुगतान पर रोक लगाई है। इस आदेश का संगठन ने विरोध किया है। उन्होंने मार्च माह का वेतन दिलाने आदि की मांग की है।


वेतन कटौती पर रोक लगाएं
देवली. राजस्थान शिक्षक संघ(अम्बेडकर)ने कोविड-19 के तहत शिक्षकों के वेतन कटौती के विरोध में बुधवार को मुख्यमंत्री के नाम एसडीओ भारत भूषण गोयल को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन सौंपने में जिलाध्यक्ष हरिराम, तहसील अध्यक्ष मनीराम वर्मा, जिला उपाध्यक्ष बनवारीलाल, दुर्गालाल वर्मा, सचिव मोहनलाल ठागरिया सहित उपस्थित थे। इसी प्रकार मालपुरा में भी राजस्थान राज्य संयुक्त कर्मचारी महासंघ राजस्थान के तत्वाधान में बुधवार को शाखा मालपुरा के द्वारा वेतन कटौती के विरोध में मुख्यमंत्री के नाम उप जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौपा साथ ही वेतन कटौती के आदेशों की होली भी जलाई गई। इस दौरान अनेक कर्मचारी मौजूद रहे। इसी प्रकार टोडारायसिंह में भी कोविड-19 के परिप्रेक्ष में राज्य कर्मियों के वेतन से एक-दो दिन का वेतन अनवरत कटौती करने के विरोध में अखिल राजस्थान कर्मचारी संयुक्त महासंघ ने आदेशों की प्रतियां जलाई तथा मुख्यमंत्री के नाम नायब तहसीलदार ओमप्रकाश शर्मा को ज्ञापन सौंपा।


मंत्रालियक कर्मचारियों ने ज्ञापन सौंपा

पीपलू(रा.क.).राजस्थान राज्य मंत्रालियक कर्मचारी महासंघ शाखा पीपलू ने उपखंड अधिकारी विभिन्न मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में स्टेट पैरिटी के आधार पर कनिष्ठ सहायक ग्रेड पे 36 00 किए जाने, अधीनस्थ मंत्रालियक कर्मचारियों को शासन सचिवालय के मंत्रालयिक संवर्ग के समान वेतनमान एवं पदोन्नति के अवसर उपलब्ध करवाना, उच्च पदोन्नति के अवसर उपलब्ध करवाना 11 सूत्री मांगों को मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा हैं। ज्ञापन देने वालों में बालकिशन शर्मा, गिर्राज गुर्जर, दिलखुश, रणजीत घासल, बबलसिंह, सीमा चौधरी, सुरेंद्र, अंगद मीणा, विजय, रामबिलास आदि शामिल रहे। इसी प्रकार अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ शाखा पीपलू ने राज्य कर्मियों के वेतन से अनवरत कटौती के विरोध में उपखंड अधिकारी को मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त विभाग राजस्थान सरकार के नाम ज्ञापन सौंपा। इस मौके ब्लॉक अध्यक्ष हनुमान चौपड़ा, कजोड़मल मीणा, मुकेश शर्मा, ललितकुमार सैनी, ओमप्रकाश शर्मा, तेजसिंह राजावत आदि मौजूद रहे। इसी प्रकार निवाई मे भी वेतन कटौती के आदेशों की प्रतियों को उपखंड अधिकारी कार्यालय परिसर में जलाकर अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ पदाधिकारियों ने प्रदर्शन किया। पदाधिकारियों ने उपखंड अधिकारी रूबी अंसार को वेतन कटौती को वापस लेने के लिए मुख्यमंत्री ने नाम ज्ञापन सौंपा। इस दौरान भवानीशंकर निरालाए रतनलाल जाट, रामेश्वर प्रसाद चौधरी, विजय अग्रवाल, हरिनारायण बैरवा, रमाकांत शर्मा,विष्णुकांत शर्मा सहित कई पदाधिकारी मौजूद थे।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned