40 वर्ष से अतिक्रमण की जद में आवंटित खेल मैदान की भूमी, शिकायतों के बाद भी किसी भी अधिकारी ने नही की कार्रवाई

राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय पीपलू को वर्ष 1979 में खेल मैदान के लिए भूमि तो आवंटित कर दी गई, लेकिन आज तक वहां से अतिक्रमण बेदखल नहीं किए जाने से इसका समुचित लाभ नहीं मिल पाया हैं।

By: pawan sharma

Published: 07 Mar 2020, 10:56 AM IST

पीपलू (रा.क.). राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय पीपलू को वर्ष 1979 में खेल मैदान के लिए भूमि तो आवंटित कर दी गई, लेकिन आज तक वहां से अतिक्रमण बेदखल नहीं किए जाने से इसका समुचित लाभ नहीं मिल पाया हैं। 7 मई 2016 को 37 साल बाद कई प्रयासों से सीमाज्ञान तो हुआ, लेकिन प्रशासन द्वारा आवंटित भूमि में हो रखे अतिक्रमणों को नहीं हटाने से यह भूमि अभी भी अनुपयोगी बनी हुई है।

जिससे विद्यालय को सीमाज्ञान का समुचित लाभ नहीं मिल सका है। जानकारी अनुसार पीपलू में रानोली रोड पर खसरा नम्बर 4309/2306 में एक बीघा बारह बिस्वा भूमि विद्यालय को 1979 में आवंटित हुई थी, लेकिन राजस्व विभाग ने विद्यालय को यह भूमि अभी तक सुपुर्द नहीं की थी, जिससे बालिकाएं खेल से वंचित रही। इस खेल मैदान में बबूल उगे हुए थे।


37 साल बाद किया सीमाज्ञान
वर्ष 2016 में जनसुनवाई में तत्कालीन सरपंच प्रतापसिंह राजावत ने तत्कालीन विधायक हीरालाल रैगर को इस मामले की शिकायत की, जिस पर तत्कालीन विधायक ने तहसीलदार को खेल मैदान के लिए आवंटित भूमि का सीमाज्ञान करवाए जाने के निर्देश दिए।

जिस पर गत 7 मई 2016 को खेल मैदान के लिए आवंटित भूमि का 37 साल बाद सीमाज्ञान तो कर दिया गया। सीमाज्ञान में कई पक्के अतिक्रमण होने पर शाला प्रशासन ने तत्कालीन एसडीएम को अतिक्रमण हटवाने की शिकायत की, लेकिन प्रशासन कहीं ना कहीं दबाव के चलते अतिक्रमण हटाने को लेकर कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई।


किसी ने भी नहीं की कार्रवाई
विद्यालय खेल मैदान से अतिक्रमण हटाने को लेकर समय-समय पर शाला प्रशासन की ओर से अधिकारियों को अवगत करवाया गया। लिखित में ज्ञापन भी दिए गए, जिस पर अधिकारियों ने कार्रवाई की बात कही, लेकिन मौके पर कोई भी अधिकारी कार्रवाई करने नहीं पहुंचा। ऐसे में विद्यालय प्रशासन कई बार अधिकारियों को लिखित व मौखिक रुप से अवगत करवा चुका, लेकिन कार्रवाई नहीं होती हैं।


इनका कहना हैं
उपखंड अधिकारी डॉ. लक्ष्मीनारायण बुनकर ने कहा कि राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय पीपलू के खेल मैदान पर अतिक्रमण होने की उन्हें जानकारी नहीं हैं, लेकिन फिर भी ऐसा हैं तो विद्यालय प्रशासन उन्हें अतिक्रमण हटाने को लेकर प्रस्ताव भेजें। साथ ही उपखंड क्षेत्र में जिन भी विद्यालयों के खेल मैदानों पर अतिक्रमण हैं उन्हें अभियान चलाकर हटाने की कार्रवाई की जाएगी।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned