प्रबोधक संघ ने सौंपा ज्ञापन, वेतन विसंगति को दूर करने की मांग

प्रबोधक संघ ने सौंपा ज्ञापन, वेतन विसंगति को दूर करने की मांग

 

By: pawan sharma

Published: 06 Jan 2021, 08:20 PM IST

टोडारायसिंह. अखिल राजस्थान प्रबोधक संघ इकाई टोडारायसिंह ने शिक्षक व प्रबोधकों के वेतन विसंगति को दूर करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। तहसील अध्यक्ष हेमराज माली की अगुवाई में सौंपे ज्ञापन में बताया कि सरकार की समान क्रियान्वित नहीं किए जाने से करीब 7500 अल्प वेतनभोगी तृतीय श्रेणी शिक्षक व प्रबंधकों का एक बड़ा वर्ग हतोत्साहित है।

लेखाकर्मियों की गणनात्मक भूलवश पे ग्रेड 5200 से 2020में बदलाव नहीं करके 2800 को ही 3600 में बदला गया है जिससे कि वेतन संरचना में प्राप्त होकर मूल वेतन 11170 बना हुआ है जबकि यह 12900 से प्रारंभ होनी थी। इससे कर्मचारी हतोत्साहित है तथा एक ही पद पर दो वेतनमान की स्थिति में संवैधानिक समानता के अधिकार की भूल प्रकट होने के बावजूद यह व्यवस्था जारी है। इस दौरान रामस्वरूप गुर्जर, चंद्र प्रकाश टेलर, रमेश वर्मा, ओमपाल प्रजापत, माया सैनी, मधु जैन, यासीन, कमलेश,सत्यनारायण सैनी, शिवराज जाट,अल्लाहबख्श आदि शिक्षक मौजूद थे।

उपखण्ड अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

उनियारा. निजी विद्यालय संघ ने विभिन्न समस्याओं को लेकर उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। इसमें बताया कि राज्य सरकार की गाइडलाइन के अनुसार 15 जनवरी तक समस्त विद्यालय बन्द है, लेकिन कई राजकीय, गैर राजकीय व कोंचिंग संस्थान संचालित है।


जबकी सरकार की गाइडलाइन के अनुसार विद्यालयों में कक्षा 9 से 12 तक मार्गदर्शन के लिए अभिभावकों की स्वैच्छिक अनुमति का आदेश है। उन्होंने समिति गठित कर अवैध संचालित विद्यालयों के प्रति कार्यवाही करने की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में संघ उनियारा के अध्यक्ष भीमसिंह गौड़, मीडिया प्रभारी हरीश जैन, नरेंद्र बराला, राहुल शर्मा, संजय गौतम, राजेन्द्र मीणा, जाकिर हुसैन आदि शामिल थे।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned