सीमा ज्ञान के बाद भी नहीं होने दी चरागाह की मेड़बंदी

सीमा ज्ञान के बाद भी नहीं होने दी चरागाह की मेड़बंदी

 

By: pawan sharma

Published: 09 Jan 2021, 07:01 PM IST

मालपुरा. उपखण्ड के मलिकपुर ग्राम पंचायत में मलिकपुर व बालापुरा गुजरान की चरागाह भूमि को लेकर जिला कलक्टर की जनसुनवाई में उपखण्ड अधिकारी को चरागाह का सीमा ज्ञान कराकर मेड़बंदी कराने के निर्देश दिए गए थे। पटवारियों के दल द्वारा सीमा ज्ञान करने एवं मलिकपुर ग्रामवासियों को मेड़बंदी करने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन शनिवार को मेड़बंदी नहीं होने दी गई।

जानकारी अनुसार मलिकपुर व बालापुरा गुजरान की चरागाह भूमि राजस्व रिकार्ड में वर्षों से शामिल ही चली आ रही थी, जिसे 2008 में अलग-अलग कर दी गई दी, लेकिन मेड़बंदी नहीं होने से दोनों ही गांव के ग्रामीण चरागाह को लेकर परेशान थे। 29 दिसम्बर को जिला कलक्टर गोरव अग्रवाल की जनसुनवाई में मलिकपुर के ग्रामवासियों ने प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर मलिकपुर, बालापुरा गुजरान के चरागाह का सीमा ज्ञान कराकर मेड़बंदी कराने की मांग की थी।

जिला कलक्टर उपखण्ड अधिकारी डॉ. राकेश कुमार मीणा को निर्देश दिए कि राजस्व अधिकारियों की टीम बनाकर चरागाह का सीमा ज्ञान कराया जाए। इस पर 7 जनवरी को राजस्व विभाग के केरिया, गणवर, मोरला, कडीला एवं मलिकपुर के पटवारियों के दल ने सीमा ज्ञान कर मुटाम कायम करा दिए तथा दोनों ग्रामवासियों को मेड़बंदी करने के लिए निर्देशित किया, जिस पर शनिवार को मलिकपुर ग्रामवासी एकत्रित होकर जेसीबी से मेडबंदी करने पहुंचे।

इसी दौरान हल्का पटवारी ने आकर ग्रामवासियों को मेड़बंदी नहीं करने के लिए पाबंद किया तथा बताया कि बालापुरा गुजरान के लोगों ने जिला कलक्टर के यहां जाकर आपत्ति दर्ज कराई है, जिसके चलते ग्रामीणों में सीमा ज्ञान के बाद मेड़बंदी नहीं होने से आक्रोश व्याप्त हो गया।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned