दस साल बाद भी नहीं बनी पुलिया, लाखों की सडक़ हो रही अनुपयोगी साबित

दस साल बाद भी नहीं बनी पुलिया, लाखों की सडक़ हो रही अनुपयोगी साबित

 

By: pawan sharma

Published: 29 Dec 2020, 06:50 PM IST

राजमहल. क्षेत्र के बोटून्दा गांव में बीसलपुर बांध की बायीं मुख्य नहर के उपर बायपास सडक़ की पुलिया पिछले दस वर्षों से अटकी होने के कारण बनाई गई लाखों की सडक़ भी अनुपयोगी साबित हो रही है। ग्रामीण बुद्धिप्रकाश दबकिया, पंचायत समिति सदस्य शिवजी राम प्रजापत, श्योजी राम शर्मा आदि ने जिला कलक्टर टोंक को पत्र भेजकर बताया कि बनास नदी में करोड़ों की रपट निर्माण के दौरान बोटून्दा गांव में बायपास सडक़ का निर्माण भी करवाना था।

सडक़ निर्माण कार्य के दौरान गांव के करीब से गुजरती बायीं मुख्य नहर के उपर पुलिया का निर्माण कर टोडारायसिंह सडक़ मार्ग से मिलाना था, लेकिन प्रशासन की अनदेखी के कारण लगभग दस वर्ष गुजरने के बाद भी नहर पर पुलिया का निर्माण नहीं हुआ, जिससे उक्त बायपास सडक़ भी अनुपयोगी साबित हो रही है।

नहर के दोनों तरफ बनी सडक़ के बीच नहर की गहरी खाई होने से दुर्घटना का अंदेशा बना हुआ है। दुर्घटना की रोकथाम के लिए ग्रामीणों ने नहर के दोनों तरफ सडक़ मार्ग के बीच वर्षों से कांटों की बाड़ लगाकर वाहनों की रोकथाम कर मार्ग को बंद कर रखा है, जिससे कोई भी वाहन चालक यहां से गुजरने के दौरान नहर में गिरने से बच सके।

ग्रामीणों ने बताया कि इस बारे में कई बार टोडारायसिंह उपखण्ड अधिकारी व सार्वजनिक निर्माण विभाग के अभियंताओं को अवगत भी करवाया गया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होने के कारण लोगों की समस्या जस की तस बनी हुई है। ग्रामीणों का कहना है कि उक्त पुलिया निर्माण के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग ने पिछले तीन वर्ष दुबारा पुलिया के टेण्डर भी जारी किए थे, लेकिन फिर से संवेदक की उदासीनता के कारण निर्माण कार्य नहीं कर पाए, जिससे बोटून्दा में बनी लाखों की बायपास सडक़ बेकार हो रही है।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned