रातभर लोकेशन के पिछे दौड़ती रही पुलिस , नाकाबंदी के बाद भी पकड़ मे नही आए बदमाश

कार सवार लुटेरे वहां से जयपुर की ओर निकले गए। सूचना पर पुलिस ने नाकाबंदी भी करवाई, लेकिन लुटेरे पुलिस के हाथ नहीं लगे।

By: pawan sharma

Published: 20 Jul 2020, 08:25 AM IST

पीपलू (रा.क.). एक ब्लैक कलर की कार में सवार 4 लुटेरों ने टोंक जिले की पुलिस को छकाकर रख दिया हैं। लुटेरों ने 20 घंटे के भीतर तीन स्थानों पर फायरिंग करने सहित फरारी के दौरान गांवों से होकर गुजरने पर कई स्थानों पर खटिया आदि को तोड़ते हुए गुजरे हैं। कार सवार लुटेरों ने शुक्रवार रात्रि को जहां झिलाई के एक पेट्रोल पंप लूट की कोशिश में असफल होने तथा एक ट्रक पर रिवाल्वर से फायरिंग की।


कार सवार लुटेरे वहां से जयपुर की ओर निकले गए। सूचना पर पुलिस ने नाकाबंदी भी करवाई, लेकिन लुटेरे पुलिस के हाथ नहीं लगे। यहीं लुटेरे शनिवार शाम को उपखंड क्षेत्र के रानोली-कठमाणा के बीच बगीची स्थित कच्चे रास्ते के यहां लूट की नियत से आ खड़े हुए। जहां करीब शाम 5.30 बजे राणोली निवासी दिलीप खटीक अपने रिश्तेदार चिंरजीलाल के साथ मालपुरा से बाइक से आ रहा था। जिनके पास 70 हजार रुपए की नकदी भी थी।

रानोली कठमाणा मार्ग पर बालाजी की बगीची के यहां मौजूद बदमाश लुटेरों ने बाइक सवारों को रुकवाया तथा उनसे उनके पास जितने भी रुपए हैं वो देने को कहा। बाइक सवारों द्वारा मना करने तथा वहां से भागने की कोशिश करने से पहले ही बदमाशा लुटेरों ने रिवाल्वर निकालते हुए उन पर फायरिंग कर दी।

जिसमें दिलीप खटीक के जांघ पर गोली लगी, जिसको जयपुर रैफर किया गया, जहां उसका उपचार जारी हैं। घटना के तुरंत बाद ही मौके पर से गांव के कई ग्रामीण बाइक से उस गाड़ी का पीछा करना शुरु हुए। वहीं मौके पर पहुंचे डिप्टी व थानाधिकारी ने क्षेत्र में नाकाबंदी करवाते हुए कंट्रोल रुम पर सूचना दी। जहां से पूरे जिले में नाकाबंदी करवाई गई। रातभर पुलिस इनकी लोकेशन के पीछे दौड़ती रही तथा अंत में जब कोई सफलता हाथ नहीं लगी।

गाड़ी फंसी, नहीं पहुंची पुलिस
जिला पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश ने बताया कि लुटेरों ने 12 जुलाई को मानसरोवर जयपुर से एक कार चोरी की। इसके बाद इन्होंने तूंगा थाने के पास डकैती में एक कार को लूटा, जिससे उन्होंने जिले में फायरिंग की घटनाओं को अंजाम दिया हैं। सभी थानाधिकारी नाकाबंदी कर रहे थे। स्वयं भी नाकाबंदी के दौरान पहुंचा था।

ग्रामीणों ने भी इसमें पूरा सहयोग किया तथा जगह-जगह डंपर लगाकर तथा कई अवरोधक लगाते हुए रास्ते ब्लॉक किए हुए थे। यह कार गई गांवों से गुजरती हुई कचोलिया पहुंची। जहां यह एक खेत में करीब 10 बजे फंस गई थी। जहां एक गांव वाले ने ट्रैक्टर के जरिए निकाल दिया। इसके बाद वह एक दुकान हैं जहां से 11 बजे करीब बिस्किट लिए हैं। इसके बाद कचौलियां गांव से सीधा रास्ता कौथून की तरफ हैं जहां से निकल गई।

रातभर दौड़ती रही पुलिस

घटना की तुरंत बाद ही जिलेभर में पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश ने सभी 23 थानों में नाकाबंदी कर दी गई, लेकिन ब्लैक कलर की कार के गांवों से गुजरने की लोकेशन की सूचना के बाद भी बदमाश लुटेरे पुलिस के हाथ नहीं लगे। पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश के निर्देशन में पुलिस बनवाड़ा, लोहरवाड़ा, प्यावड़ी, बगड़ी, रजवास, खणदेवत, कचोलिया, सीदड़ा, बनस्थली, बनस्थली मोड, निवाई, श्योसिंहपुरा, नटवाड़ा, शिवाड़, बरौनी, सोहेला तक लुटेरों की लोकेशन के मुताबिक रातभर दौड़ती रही। इन लोकेशनों से कार तेज रफ्तार में गुजरी हैं तथा गांव के रास्तों में पड़ी खटियां आदि को तोड़ते हुए निकली हैं। घटना से गांवों में दहशत का माहौल नजर आया।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned