video: बीसलपुर के पास मेहमान परिंदों की अठखेलियां और सुरीली आवाज किसानों के लिए बनी आकर्षण का केन्द्र

pawan sharma

Publish: Oct, 13 2018 03:55:46 PM (IST)

Tonk, Rajasthan, India

राजमहल. हर वर्ष मध्यम से कम बारिश होने के चलते प्रवासी पक्षी बीसलपुर बांध व आस-पास के क्षेत्र में डेरा डालने लगे हैं। हर वर्ष साइबेरिया से ईरान व अफगानिस्तान होते हुए राजस्थान के बीकानेर व जोधपुर सम्भाग के गांवों स्थित तालाबों में सर्दी के मौसम में डेरा डालने वाले साइबेरियन पक्षी डेमोइसेल के्रन, जिन्हें स्थानीय भाषा में कुरजां नामक पक्षी के नाम से जाना जाता है।

 

यह पक्षी इस वर्ष मानसून की बैरूखी के कारण सूखे पड़े जलाशयों से मायूस होकर भोजन की तलाश में बीसलपुर बांध के छिछले क्षेत्र सहित नजदीकी गांव राजमहल, माताजी रावता, देवीखेड़ा आदि गांवों खेतों में डेरा डालने लगे हंै। पिछले एक सप्ताह से पांच सौ से अधिक की संख्या में मेहमान कुरजां खेतों में उड़ान भरने के साथ ही हकाई जुताई के दौरान निकलने वाले कीटों को अपना भोजन बनाने लगे हंै।

 

मेहमान परिंदों की अठखेलियां व इनकी सुरीली आवाज किसानों के आकर्षण का केन्द्र बनी हुई है। लोगों ने बताया कि यह पक्षी सर्दी के मौसम में आकाश में काफी उंची उड़ान भरते नजर आते थे। वहीं कभी-कभार बांध के तट के करीब कुछ संख्या में दिखाई देते थे, लेकिन इस बार बीसलपुर टोंक उनियारा फिल्टर प्लांट के करीब खेतों में सैकड़ों की संख्या में अठखेलियां करते नजर आने लगे हंै।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned