आस्था: महाआरती के साथ मेला सम्पन्न, जमकर हुई खरीदारी

दो दिवसीय सांड बाबा मेला का संध्या महाआरती के साथ सम्पन्न हुआ। श्रद्धालुओं ने सांड बाबा मंदिर पहुंच सुख-समृद्धि की कामना की। मेले में मिठाइयों, मणिहारी, सजावट के सामानों सहित घरेलु सामानों की दुकानों पर महिला-पुरुषों ने जमकर खरीदारी की।

लाम्बाहरिसिंह. कस्बे में गुरुवार शाम को दो दिवसीय सांड बाबा मेला Two Day Sand Baba Fair का संध्या महाआरती के साथ सम्पन्न Done with Sandhya Mahaarti हुआ।श्रद्धालुओं ने सांड बाबा Devotees bull bull मंदिर पहुंच सुख-समृद्धि की कामना Wish prosperity की। मेले में मिठाइयों,Sweets in the fair मणिहारी, सजावट के सामानों सहित घरेलु सामानों की दुकानों Home goods shops पर महिला-पुरुषों ने जमकर खरीदारी की।

read more : तीन नदियों के संगम पर स्थित मांसी बांध से सिंचाई के लिए नहरों में छोड़ा पानी, 6985 हैक्टेयर जमीन पर रबी की फसल में होगी सिंचाई

बच्चों ,युवतियों ने खिलौने, चाट पकोड़ी समेत झूले,चकरी का लुत्फ उठाया। मंदिर पुजारी श्योजी माली ने बताया कि संध्या महाआरती के साथ प्रसाद भोग लगा वितरण करने के साथ ही मेले का समापन हुआ।

read more : 12 साल से फाइलों में रेंग रहा बीसलपुर वन क्षेत्र के विकास का सपना

रामकथा की हुई पूर्णाहुति
निवाई. गोपाल मंदिर में चली रही नौ दिवसीय रामकथा की पूर्णाहुति विधि विधान से की गई। इस अवसर पर गोपाल मंदिर परिसर में कथावाचक ओम के सान्निध्य में मंत्रोच्चार के साथ हवनकुंड में आहुतियां दी गई। इस दौरान प्रवचन देते कथावाचक ने कहा कि भगवान राम ने सदैव मर्यादा में रहकर मानव विभिन्न प्रकार के संदेश दिए हैं। भगवान राम ने माता-पिता की आज्ञा मानकर वन गमन कर संदेश कि माता पिता का कहना मानना प्रत्येक पुत्र-पुत्री के लिए आवश्यक हैं।

read more : बीसलपुर बांध से पानी छोडऩे पूर्व नहरों की सफाई व मरम्मत के लिए ग्रामीणों ने तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन
समाज सेविका विजयकंवर ने महाआरती कर की। इस अवसर पर सत्यदेव व्यास, श्याम पारीक, लोहित पारीक, राम व्यास, रामफूल शर्मा, नाथूलाल सहित सैकडों लोग मौजूद थे।

read more : अधूरा निर्माण बना परेशानी का सबब, पानी निकासी के लिए सडक़ खोद कर डाले पाइप
जैन मंदिर निर्माण जोरों पर
टोंक. दिगंबर जैन मंदिर बड़ा तख्ता का इन दिनों निर्माण जोरों पर है। समाज के प्रवक्ता पवन कंटान ने बताया कि बड़ा तख्ता क्षेत्र में पांच वेदी का कार्य मकराना के कारीगरों द्वारा नव निर्माण किया जा रहा है। इसके अलावा मंदिर के गर्भ ग्रह में पाली के कारीगरों द्वारा का कांच कार्य किया जा रहा है।

इस दौरान भागचंद जैन, पदमचंदआंडरा, सुरेश संघी, धर्मचंद आदि मौजूद थे। उन्होंने बताया कि यहां सुनहरी कोठी की तरह सोने की पेंटिंग का कार्य किया जा रहा है। मंदिर में 25 से 27 जनवरी तक तीन दिवसीय भव्य वेदी प्रतिष्ठा आचार्य इंद्रनंद के सान्निध्य में होगा।

MOHAN LAL KUMAWAT
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned