खाद की मारामारी, किसानों पर पड़ रही भारी

ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर संचालित ग्राम सहकारी समितियों में डीएपी खाद आपूर्ति नहीं होने के कारण उपलब्ध नहीं है, इससे रबी फसल बुवाई तैयारी में जुटे किसान परेशान हैं।

By: pawan sharma

Published: 11 Oct 2021, 08:44 AM IST

लाम्बाहरिसिंह. कस्बे समेत क्षेत्र के ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर संचालित ग्राम सहकारी समितियों में डीएपी खाद आपूर्ति नहीं होने के कारण उपलब्ध नहीं है, इससे रबी फसल बुवाई तैयारी में जुटे किसान परेशान हैं। ऐसे में बाजार से किसानों को महंगे दाम में खाद खरीदने पर विवश होना पड़ रहा है। समितियों ने पूर्व में इफको कम्पनी को राशि सहित डिमांड जमा करवा दिया है।

इसके बावजूद खाद की आपूर्ति नहीं हुई। किसान रामसिंह, बोदूराम रैगर समेत अन्य बताया कि रबी फसल बुवाई के लिए खेत तैयार है। खाद उपलब्ध नहीं होने के कारण बुवाई नहीं हो रही है। उन्होंने प्रशासन से जल्द खाद उपलब्ध कराने की मांग की है। लाम्बाहरिसिंह समिति व्यवस्थापक संजय नामा ने बताया कि खाद के लिए डिमांड भेज दी थी फिर भी खाद उपलब्ध नहीं कराई गई है।


कचौलिया व इंदोली समिति व्यवस्थापक हेमराज ने बताया कि खाद के लिए इफ्को कम्पनी को राशि जमा करवाकर डिमांड भेज दी है। खाद उपलब्ध नहीं होने से किसान मायूस लौट रहे हैं। इस सम्बध में इफ्को कम्पनी जिला फिल्ड सुपरवाइजर शंकर घटाला से दूरभाष पर फोन किया, लेकिन फोन नहीं उठाया।


बनेठा. उपतहसील मुख्यालय सहित ग्रामीण अंचलों में इन दिनों काश्तकारों को डीएपी खाद की किल्लत के कारण परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सरसों की बुवाई के लिए किसान डीएपी खाद के लिए दर-दर भटकने को मजबूर हैं। डीलरों के यहां पर खाद की गाड़ी आते ही उसी दिन समाप्त हो रही है। कई चक्कर काटने के बाद भी किसानों को डीएपी खाद नहीं मिल पा रहा है, जिससे किसानों में प्रशासन के प्रति रोष व्याप्त है। वहीं खाद की किल्लत के चलते कालाबाजारी की आशंका से भी इनकार नहीं किया जा सकता है।


नगरफोर्ट. तहसील मुख्यालय पर डीएपी खाद नहीं मिलने के कारण किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। किसानों ने बताया कि मजबूर होकर जिला मुख्यालय पर जाकर खाद लाना पड़ रहा है। किसानों ने बताया कि जिला मुख्यालय पर भी लाइन में नम्बर लगाना पड़ रहा है।

फिर भी कई को बिना खाद के वापस लौटना पड़ रहा है। एक-दो दिन में नगरफोर्ट मुख्यालय पर खाद नहीं मिला तो तहसील मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। तहसील मुख्यालय पर करीब दो दर्जन भर गांवों के किसान रोजाना खाद लेने के लिए आते हैं, लेकिन खाद नहीं मिलने के कारण निराश होकर लौटना पड़ रहा है।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned