टोडारायसिंह में किसानों का अनशन शुरू

विधायक ने की कृषि मंत्री से वार्ता, समर्थन मूल्य पर खरीद शुरू करने की मांग
टोडारायसिंह. राज्य सरकार की ओर से समर्थन मूल्य पर सरसों व चने की खरीद बंद करने से नाराज किसानों ने कस्बे में मंगलवार को अनशन शुरू किया।

By: jalaluddin khan

Updated: 30 Jun 2020, 09:20 PM IST

टोडारायसिंह में किसानों का अनशन शुरू
विधायक ने की कृषि मंत्री से वार्ता, समर्थन मूल्य पर खरीद शुरू करने की मांग
टोडारायसिंह. राज्य सरकार की ओर से समर्थन मूल्य पर सरसों व चने की खरीद बंद करने से नाराज किसानों ने कस्बे में मंगलवार को अनशन शुरू किया।

वहीं कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने मालपुरा विधायक कन्हैयालाल चौधरी से हुई वार्ता के बाद देर शाम खरीद शुरू कराने का आश्वासन दिया।

उल्लेखनीय है कि किसानों को अपनी उपज का उचित दाम नहीं मिलने तथा कोरोना महामारी के बीच आर्थिक तंगी झेल रहे किसानों की समर्थन मूल्य पर सरसों व चने की फसल खरीद पर रोक लगाने के बाद दो दिन से रैली, प्रदर्शन के बाद मंगलवार को कस्बे स्थित समर्थन मूल्य खरीद केन्द्र पर किसान नेता रतन खोखर की अगुवाई में दर्जनों किसान अनशन व धरने पर बैठ गए।


इधर, विधायक कन्हैयालाल चौधरी ने मंगलवार को कृषि जिंस की खरीद बंद करने पर खरीद शुरू कराने की मांग को लेकर कृषि मंत्री लालचंद कटारिया से वार्ता की। जहां कृषि मंत्री ने शाम खरीद शुरू कराने का आश्वासन दिया।


विधायक चौधरी ने बताया कि फिर से शुरू होने वाली खरीद में विधानसभा में मालपुरा-टोडारायसिंह क्षेत्र के करीब 450 किसान लाभान्वित होंगे। इधर, समर्थन मूल्य खरीद केन्द्र पर अनशन पर बैठे किसानो की समझाइश को लेकर तहसीलदार मनमोहन गुप्ता, थाना प्रभारी नरेश शर्मा मौके पर पहुंचे तथा समझाने का प्रयास किया, लेकिन किसान खरीद शुरू होने के बाद अनशन तोडऩे पर अड़ गए।


इस दौरान पालिकाध्यक्ष संतकुमार जैन व अन्य पदाधिकारी भी मौके पर पहुंच समझाने का प्रयास किया। अनशन में सत्यनारायण शर्मा, रघूवीर सिंह, प्रधान धाकड़, सावरिया, मुकनालाल जांगिड़, बद्रीलाल मीणा, सोलाराम, रामकिशन, मोहन धाकड़ समेत अन्य किसान मौजूद थे।


फसलों की नहीं हुई तुलाई, किसानों ने किया प्रदर्शन
मालपुरा. कृषि उपज मंडी समिति में क्रय विक्रय सहकारी समिति द्वारा समर्थन मूल्य पर चने व सरसों की तुलाई का कार्य बंद कर देने के चलते किसानों को परेशानी उठानी पड़ रही है। माल लेकर आए किसानों ने मंगलवार को मंडी समिति के गेट पर जाम लगाकर प्रदर्शन किया।


क्रय विक्रय सहकारी समिति की ओर से कृषि उपज मंडी समिति में समर्थन मूल्य पर चना व सरसों की तुलाई की जा रही थी, लेकिन 27 जून को तुलाई बंद करने के राजफैड द्वारा आदेश दिए जाने के बाद स्थानीय केंद्र पर तुलाई का कार्य बंद कर दिया गया, जिससे 26 तारीख के बाद किसानों के माल तुलाने के मैसेज आए, उसके बाद उपखंड क्षेत्र के डोरिया, थड़ी, पचेवर ,आवड़ा ,डिग्गी, अरनिया, चबराना, स्याह, अरर्निया उर्फ रामसिंहपुरा, कुराड ,सांवरिया, सांस गांवों के किसानों के मैसेज के अनुसार निर्धारित तारीख पर अपना चना तुलाने के लिए ट्रैक्टर भरकर यहां पहुंचे, लेकिन केंद्र पर 27 जून से ही खरीद का कार्य बंद कर दिए जाने के चलते माल लेकर आए किसान 2 दिन से मंडी गेट के बाहर परेशान हो रहे हैं।


जिन्होंने मंगलवार को अपने माल से बड़े ट्रैक्टरों को मंडी गेट के बाहर लगाकर प्रदर्शन शुरू कर माल तुलानें की मांग करने लगे। क्रय विक्रय सहकारी समिति के लेखाकार ने मामले की संपूर्ण जानकारी उपखंड अधिकारी डॉ राकेश कुमार मीणा को दी इस पर उपखंड अधिकारी ने राजफेड के अधिकारियों से दूरभाष पर संपर्क कर किसानों की समस्याओं को निस्तारण करने की बात कही। वही लेखाकार ने बताया कि अब तक 1941 किसानों ने पंजीयन करा रखा है, जिनमें से लगभग 26 0 किसानों के 29 जून तक चना तूलाने का मैसेज आने के चलते किसान माल लेकर आ रहे हैं।

jalaluddin khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned