आबकारी कर्मचारियों व ठेकेदार के बीच हुई मारपीट, अधिकारियों पर बंधी लेने का लगाया आरोप

अवैध शराब को रोकने वाले आबकारी विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों पर शराब के एक ठेकेदार ने 5 हजार रुपए की हर महीने दी जाने वाली बंदी नहीं देने पर मारपीट करने का आरोप लगाया है।

By: pawan sharma

Published: 01 Mar 2020, 09:52 AM IST

टोंक. अवैध शराब को रोकने वाले आबकारी विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों पर शराब के एक ठेकेदार ने 5 हजार रुपए की हर महीने दी जाने वाली बंदी नहीं देने पर मारपीट करने का आरोप लगाया है। उनके तथा कर्मचारियों के बीच आबकारी विभाग में शनिवार को जमकर हंगामा तथा मारपीट हुई। सूचना के बाद पहुंची पुरानी टोंक थाना पुलिस ने उन्हें शांत किया। वहीं ठेकेदार तथा आबकारी अधिकारी की ओर से परस्पर मामले दर्ज कर लिए।

ठेकेदार मुकेश सांसी ने रिपोर्टदर्जकराईकि उसके पास आबकारी विभाग से आवंटित देशी शराब की दुकान है। आरोप लगाया कि दुकान के लिए आबकारी विभाग के अधिकारी-कर्मचारी हर महीने उससे 5 हजार रुपए लेते हैं। पिछले तीन महीने से मंदी चलने पर वह ये राशि नहीं दे रहा था। शुक्रवार को आबकारी विभाग के कर्मचारी उसकी दुकान पर आए और खाना खाया तथा रुपए की मांग करने लगे।

ऐसे में वह शनिवार को अधिकारी-कर्मचारियों से मिलने आया था, लेकिन उसके साथ मारपीट कर दी गई। इससे वह घायल हो गया। दूसरी ओर आबकारी अधिकारी प्रभुलाल ने पुरानी टोंक थाने में रिपोर्टदर्जकराईकि मुकेश सांसी कार्यालय में आया और गाली-गलोच करने लगा।

उसने कर्मचारी तमेशसिंह तंवर से मारपीट की। गाली-गलोच कर हंगामा कर दिया। इससे लोगों की भीड़ जमा हो गए। लोगों ने उन्हें छुड़वाया। जबकि मुकेश पर विभाग का बकाया चल रहा है। वह विभाग से मदीरा नहीं लेकर अन्य से लेकर बेच रहा है। इसकी शिकायत की तो उसने कार्यालय में हंगामा कर दिया और राजकार्य में बाधा पहुंचाई। इधर, पुरानी टोंक थाना प्रभारी सी. एल. गुर्जर ने बताया कि मुकेश सांसी तथा प्रभुलाल की ओर से अलग-अलग मामले दर्जकर लिए गए हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned