खेत में कटी पड़ी सरसों की फसल में लगी आग, पकी फसल हुई राख

नानेर के कई किसानों के खेत में रखी हुई सरसों की फसल में अज्ञात कारणों से आग लग गई, जिसे बुझाने का प्रयास किया गया, लेकिन आग बेकाबू होने से किसानों की पकी हुई फसल राख हो गई।

By: pawan sharma

Published: 05 Mar 2021, 07:53 PM IST

पीपलू. नानेर के कई किसानों के खेत में रखी हुई सरसों की फसल में अज्ञात कारणों से आग लग गई, जिसे बुझाने का प्रयास किया गया, लेकिन आग बेकाबू होने से किसानों की पकी हुई फसल राख हो गई। इस पर पीडि़त किसानों ने अज्ञात कारणों से लगी आग संबंधी मामले की फरियाद शुक्रवार को पीपलू पुलिस थाने में पहुंच कर की है।

पीडि़त किसान सूजा पुत्र बजरंगा खटीक निवासी नानेर ने मौके पर पहुंचे झिराना पुलिस चौकी प्रभारी सवाई सिंह को दी रिपोर्ट में बताया कि गुरुवार दोपहर में अचानक उसके सहित पड़ोसी खातेदार गोपी, रामनिवास, नाथूलाल, सीताराम खटीक आदि की 4 बीघा रकबा में बोई गई सरसों की फसल कटाई करके रखी हुई थी, जो अज्ञात कारणों से हुई आगजनी में गुरुवार दोपहर में जलकर स्वाह हो गई। पुलिस ने अज्ञात जनों के विरुद्ध मामला दर्ज करके जांच शुरू की है। इसके अलावा पीडि़तों ने फसल का आकलन करके मुआवजा दिलाए जाने की मांग भी क्षेत्रीय प्रशासन से की है।

आबादी क्षेत्र में ब्रेकर बनाने की मांग

आवां. देवनारायण मंदिर से राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के बीच मुख्य बाजार में ब्रेकर लगाने की मांग को लेकर लोगों ने सरपंच के नाम ज्ञापन सौंपा है। वार्ड पंच देवकरण गुर्जर ने बताया कि मुख्य बाजार में आबादी क्षेत्र के कारण चहल-पहल रहती है। डेढ़ किलोमीटर लंबे मुख्य मार्ग में गति अवरोधक नहीं होने से वाहन चालक तेज गति से सरपट वाहन दौड़ाते हैं। इससे आए दिन दुर्घटनाएं होती है।

मुख्य बाजार में गति अवरोधक नहीं होने से कस्बे वासियों में नाराजगी है। इसी को लेकर कस्बे वासियों ने गति अवरोधक लगवाने की मांग को लेकर ग्राम पंचायत सरपंच दिव्यांश महेंद्र भारद्वाज के नाम ज्ञापन दिया है। गौरतलब है किए मुख्य बाजार में गति अवरोधक नहीं होने से वाहन चालकों की तेज गति का शिकार होकर एक बालिका की मौत हो चुकी है। जल्दी ही गति अवरोधक नहीं लगाए जाने पर कस्बे वासियों ने व्यापक आंदोलन की चेतावनी दी है।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned