पानी पर पहला हक किसानों का-सांसद

आला अधिकारियों की ओर से सरकार को गुमराह करने के कारण बीसलपुर बांध से नहरों में सिंचाई के लिए पानी

By: मुकेश शर्मा

Published: 09 Feb 2016, 11:07 PM IST

टोंक।आला अधिकारियों की ओर से सरकार को गुमराह करने के कारण बीसलपुर बांध से नहरों में सिंचाई के लिए पानी छोडऩे में विलम्ब हो रहा है। इससे फसलें नष्ट होने के कगार पर है। यह बात मंगलवार को सांसद सुखबीरसिंह जौनापुरिया ने अग्रवाल धर्मशाला में आयोजित भाजपा किसान मोर्चा की एक दिवसीय कार्यशाला में कही। उन्होंने कहा कि पानी पर पहला हक किसानों का है। उन्होंने मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में नहरों में पानी छोडऩे की बात रखने को कहा। टोंक विधायक अजीत मेहता ने सरकार की योजनाओं को आमजन तक पहुंचाने को कहा। उन्होंने कहा कांग्रेस पचास साल के शासन में किसानों की पीड़ा नहीं समझ पाई।


भाजपा चंद सालों में ही किसानों के दु:ख-दर्द समझ घर-घर योजनाओं का लाभ पहुंचा रही है। उन्होंने कहा कि नहरों से पानी छोडऩे की मांग को मुख्यमंत्री तक पहुंचाएंगे। किसान मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष व बायतू विधायक कैलाश चौधरी ने कहा कि केन्द्र सरकार ने मनरेगा योजना में श्रमिकों के लिए भामाशाह व श्रमिक कल्याण योजना में मिल रही राशि में 8 प्रतिशत बढ़ोतरी की है। मनरेगा योजना के तहत श्रमिक की मृत्यु, स्थायी विकलांगता, शिक्षा, मेधावी विद्यार्थियों, प्रसूति योजना, श्रमिकों के बालकों के विवाह सहित अन्य योजनाओं का लाभ दे रही है।

किसानों को सरकारी योजनाओं से सीधा जोड़कर गत 6 फरवरी से राजस्थान के प्रत्येक जिला मुख्यालय पर 'किसान मोर्चा आपके द्वारÓ एक दिवसीय कार्यशालाएं शुरू की गई है। कार्यशालाएं 20 फरवरी तक आयोजित की जाएंगी। प्रदेश महामंत्री शैलाराम सारण ने प्रधानमंत्री की ओर से बाढ़, सूखा, तूफान व प्राकृतिक आपदाओं की मार झेल रहे किसानों की सहायता के लिए शुरू की गई प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की जानकारी दी। देवली-उनियारा विधायक राजेन्द्र गुर्जर ने किसानों की मांग का समर्थन करते हुए कहा कि सिंचाई के लिए नहरों में पानी छोडऩे को लेकर सम्बन्धित मंत्री व मुख्यमंत्री को अवगत कराया जाएगा। पानी के अभाव में फसलें नष्ट हो रही है।

टोंक पंचायत समिति प्रधान जगदीश गुर्जर व भाजपा नेता नरेश बंसल ने केन्द्र व राज्य सरकार की योजनाओं की जानकारी देकर निर्धनों, नि:शक्तों व आमजन को अधिक से अधिक फायदा पहुंचाने की बात कही।  कार्यक्रम में नगर परिषद सभापति लक्ष्मीदेवी जैन, भाजयुमो जिलाध्यक्ष चन्द्रवीरसिंह चौहान, भााजपा जिलाध्यक्ष गणेश माहुर, हेमन्त लाम्बा, रामचन्द्र गुर्जर, दीपक संगत व अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला महामंत्री तोसिफ खान ने भी विचार व्यक्त किए। इससे पहले किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष प्रधान गुर्जर ने कार्यशाला में आए सांसद सहित जनप्रतिनिधियों व प्रदेश पदाधिकारियों का माला व साफा पहना स्वागत किया।

गलत फीडबेक दे रहे हैं अधिकारी

करीब दो घंटे से अधिक समय तक चली कार्यशाला में बीसलपुर बांध से नहरों में पानी छोडऩे का मुद्दा छाया रहा। सांसद ने कहा कि राज्य के अधिकारी बांध के पानी को पेयजल के लिए सुरक्षित रखे जाने को लेकर सरकार को गलत फीडबेक दे रहे हैं। इससे नहरों में पानी छोडऩे में विलम्ब हो रहा है। टोंक पंचायत समिति प्रधान जगदीश गुर्जर ने कहा कि गत वर्ष बांध में 60 टीएमसी पानी होने पर भी किसानों की मांग पर नहरों में पानी छोड़ा था। उल्लेखनीय है कि किसानों की मांग पर कार्यशाला में जनप्रतिनिधि अलग-अलग अंदाज में उन्हें आश्वस्त करते रहे, लेकिन उनकी नाराजगी दूर नहीं हुई।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned