scriptFish theft in broad daylight in Banas with dam, illegal boats running | बांध के साथ बनास में दिन दहाडे मछली चोरी, चल रही अवैध नावें | Patrika News

बांध के साथ बनास में दिन दहाडे मछली चोरी, चल रही अवैध नावें

मत्स्य विभाग बरत रहा है कार्रवाई में अनदेखी
टोंक. मत्स्य विभाग की अनदेखी के कारण पिछले करीब डेढ़ वर्ष से बीसलपुर बांध का मछली ठेका नहीं होने के कारण सरकार को हर वर्ष करोडों का राजस्व नुकसान हो रहा है। इसी के साथ इस वर्ष बनास नदी में भी मछली का ठेका नहीं होने के कारण बनास में दिनदहाडे अवैध मछली के शिकार को लेकर धडल्ले से मछली चोरी होने लगी है।

टोंक

Published: January 10, 2022 08:35:16 pm

बांध के साथ बनास में दिन दहाडे मछली चोरी, चल रही अवैध नावें
मत्स्य विभाग बरत रहा है कार्रवाई में अनदेखी
टोंक. मत्स्य विभाग की अनदेखी के कारण पिछले करीब डेढ़ वर्ष से बीसलपुर बांध का मछली ठेका नहीं होने के कारण सरकार को हर वर्ष करोडों का राजस्व नुकसान हो रहा है। इसी के साथ इस वर्ष बनास नदी में भी मछली का ठेका नहीं होने के कारण बनास में दिनदहाडे अवैध मछली के शिकार को लेकर धडल्ले से मछली चोरी होने लगी है।
बांध के साथ बनास में दिन दहाडे मछली चोरी, चल रही अवैध नावें
बांध के साथ बनास में दिन दहाडे मछली चोरी, चल रही अवैध नावें

मछली चोरी को लेकर बनास नदी में मिलने वाली ङ्क्षसघाड़ा, लेची, कतला, बाम, सांकल, रहु आदि कीमती प्रजातियां की मछलियां भी नष्ट होने के कगार पर है।

मत्स्य विभाग की अनदेखी का नजारा बांध में देखकर अब धडल्ले से बनास नदी में भी अवैध शिकारियों की तादाद बढती जा रही है। बनास नदी में पिछले एक वर्ष से मछली का ठेका नहीं होने व मत्स्य विभाग की अनदेखी के कारण बनास नदी में शाम ढलते ही अवैध मछली शिकारी जाले डाल देते है, वहीं दिनभर जाल के साथ मछलियां समेटते नजर आते है।

60 किमी तक बनास का सफर
मत्स्य विभाग टोंक के अधिन बनास के मछली ठेके का सफर करीब 60 किमी तक फैला है, जिसमें बीसलपुर बांध के डाउन स्ट्रीम में स्थित पवित्र दह को छोड़कर राजमहल से होते हुए टोंक व ईसरदा बांध तक है।

हालांकि इस बार बीसलपुर बांध से पानी की निकासी नहीं होने के कारण बनास नदी में पानी की मात्रा काफी कम है। बनास नदी का अधिकांशतर हिस्सा सुखा पड़ा।


विभाग के पास स्टाफ व संसाधनों की कमी है। वहीं मछली चोर काफी तादाद में हो चुके हैं। ऐसे में अवैध शिकार पर कार्रवाई के दौरान कर्मचारियों पर हमला तक कर दिया जाता है।
राकेश देव, मत्स्य विकास अधिकारी टोंक।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.