गुर्जर समाज के विवाह सम्मेलन का ध्वजारोहण

लघु पुष्कर मांडकला में होने वाले 4 मई को गुर्जर समाज के विवाह सम्मेलन का बुधवार को ध्वजारोहण किया गया। सकल चौरासी गुर्जर समाज के विवाह सम्मेलन को लेकर बुधवार को गुर्जर समाज के द्वारा कस्बे में बैंड बाजे के साथ ध्वज शोभायात्रा निकाली गई

By: MOHAN LAL KUMAWAT

Published: 19 Mar 2020, 09:14 AM IST

नगरफोर्ट. लघु पुष्कर मांडकला में होने वाले 4 मई को गुर्जर समाज के विवाह सम्मेलन का बुधवार को ध्वजारोहण किया गया।

सकल चौरासी गुर्जर समाज के विवाह सम्मेलन को लेकर बुधवार को गुर्जर समाज के द्वारा कस्बे में बैंड बाजे के साथ ध्वज शोभायात्रा निकाली गई, जिसमे गुर्जर समाज के लोग नाचते गाते पुष्प वर्षा करते हुए मांडकला देवनारायण मंदिर पहुंचे।

जहां पर पंडित ओमप्रकाश ने विधि-विधान से पूजा अर्चना कर ध्वज पूजन कराकर मंदिर में चढ़ाया गया। इस मौके पर समाज के डॉ विक्रम सिंह गुर्जर, राजेन्द्र बोकण , जगदीश गुर्जर, पूर्व सरपंच मांगी लाल, कन्हैया लाल, रामलाल, हेमराज धाबाई, दुर्गा लाल बोकण सहित समाज के पंच पटेल मौजूद थे।


दशम स्नान कर पूजा की: टोंक. सनाढ्य ब्राह्मण समाज की ओर गायत्री धाम में श्रीराम दरबार का पाटोत्सव का कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें दशम स्नान कराकर पूजा-अर्चना कर श्रीरम महायज्ञ किया गया।

ये आयोजन रामस्वरूप पंचोली की ओर से सम्पन्न कराया गया। इसमें रामजस शर्मा, नंदकिशोर शर्मा, बाल किशन शर्मा, ललित कुमार शर्मा, घनश्याम गुप्ता आदि मौजूद थे।

पीपलू(रा.क.). श्री खेड़ापति बालाजी पदयात्रा संघ टोंक के पदाधिकारियों ने पदयात्रियों के विश्राम एवं भजन संकीर्तन की व्यवस्थाओं के लिए भूरावाली, बनवाड़ा, रानोली, नयागांव, चांदमाकलां, खेड़ापति, पीपलू का दौरा किया।

श्री बालाजी खेड़ापति पदयात्रा संघ टोंक प्रभारी प्रेमनारायण दिवाकर ने बताया कि संघ के तत्वावधान में खेड़ापति बालाजी के दर्शनों को लेकर 20 वीं पदयात्रा 24 मार्च को सुबह 8 बजे रघुनाथपुरी बड़ा तख्ता टोंक से गाजे बाजे के साथ रवाना होगी।

पदयात्रा टोंक से देवरी बालाजी, ढूंढिय़ां, नाथड़ी, पीपलू, भूरावाली होते हुए बनवाड़ा पहुंच पहले दिन का विश्राम करेगी। जहां रात्रि में भजन संध्या का आयोजन होगा।

25 अप्रेल को सुबह 5 बजे बनवाड़ा से रवाना होकर नया गांव, रानोली होते हुए 11 बजे पदयात्रा खेड़ापति बालाजी पहुंचेगी। जहां पदयात्री दर्शन कर निशान चढ़ाएंगे। इसके बाद संघ की ओर से हरि कीर्तन, भंडारा प्रसादी, महाआरती के होने वाले आयोजनों में शिरकत करके पदयात्री वापस लौटेंगे।

MOHAN LAL KUMAWAT
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned