पैंथर को पकडऩे के लिए वन विभाग ने लगाया पिंजरा

क्षेत्र के मोहम्मदपुरा गांव में मंगलवार रात को तीसरी बार पैंथर ने बाड़े में घुसकर तेरह भेड़ों का शिकार करने के बाद पिंजरा लगाया गया है। पिंजरे में मेमना भी बांधा गया है।

By: pawan sharma

Published: 19 Mar 2021, 08:37 AM IST

सोप. क्षेत्र के मोहम्मदपुरा गांव में मंगलवार रात को तीसरी बार पैंथर ने बाड़े में घुसकर तेरह भेड़ों का शिकार करने के बाद पिंजरा लगाया गया है। पिंजरे में मेमना भी बांधा गया है। वन विभाग की ओर से पैंथर को पकडऩे के लिए अब तक ठोस कार्रवाई नहीं होने से ग्रामीणों में रोष बढ़ता जा रहा है।

वहीं आबादी क्षेत्र में पैंथर पशुओं का अपना निवाला बना रहा है। वहीं,मंगलवार बीती रात की घटना पर ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग की टीम तथा पशु चिकित्सक आशीष गुप्ता मौके पर पहुंचे तथा घटनास्थल का जायजा लिया पशु चिकित्सक आशीष गुप्ता ने बताया कि ग्रामीणों की मांग पर पैंथर को पकडऩे के लिए मोहम्मदपुरा गांव में पिंजरा लगा दिया गया है। गोरतलब है कि मोहम्मदपुरा गांव में मंगलवार रात करीब एक बजे देवलाल गुर्जर के बाड़े में पेंथर ने तेेरह भेड़ों का शिकार कर लिया था। पदचिह्न के आधार पर पैंथर को पकडऩे के लिए प्रयास शुरू किए गए है।

ग्रामीणों की उड़ी नींद
पैंथर के हमले से मोहम्मदपुरा सहित आस-पास के गांवों के निवासियों की नींद उड़ी हुई है। मंगलवार रात देवलाल के बाड़े में पैंथर ने तीसरी बार हमला बोला, जिससे 13 भेड़ों की मौत हो गई। इससे पहले मोहन गुर्जर के बाड़े में पेंथर के हमले से 31 जनवरी को 11 और 8 फरवरी को 21 भेड़ों की मौत हो गई थी।

प्रशासन नही दे रहा है ध्यान

पचेवर. बरोल पंचायत के ग्राम बापडून्दा में संचालित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय के खेल मैदान पर गांव के ही लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है। इससे स्कूल के खिलाडिय़ों को खेल मैदान की सुविधा से वंचित रहना पड़ रहा है।
बापडून्दा के ग्रामीणों का कहना है कि विद्यालय की 3 बीघा भूमि पर अवैध बाड़े बना कर कब्जा कर रखा है।

संस्था प्रधान शान्ति लाल वर्मा ने बताया कि खेल मैदान की 3 बीघा भूमि दर्ज है, जिसका अभी तक सीमाज्ञान नहीं कर विद्यालय को सुपुर्द नहीं किया गया है, जिसके लिए पंचायत प्रशासन व पटवारी को कई बार खेल मैदान को खाली करवाने की मांग की जा चुकी है। ग्रामीणों ने बताया कि इस संबंध में पंचायत प्रशासन से लेकर उपखण्ड प्रशासन तक कई बार मौखिक व लिखित में शिकायत भी कर चुके,लेकिन समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है।


वहींं प्रधानाध्यापक शान्ति लाल वर्मा का कहना है कि पंचायत प्रशासन व पटवारी को कई बार समस्या से अवगत करवाया है,लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। इधर, बरोल पटवारी अन्नु प्रजापत ने बताया राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय बापडून्दा के खेल मैदान की 3 बीघा भूमि राजस्व रिकार्ड में दर्ज है, लेकिन नक्शा सीट नहीं होने के कारण सीमाज्ञान नहीं हो पा रहा है।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned