बालिका दिवस : किशोरी को लेने के लिए माता -पिता को पांच घंटे का इंतजार

बालिका दिवस :  किशोरी को लेने के लिए माता -पिता को पांच घंटे का इंतजार
बाल कल्याण समिति किशोरी को भेजने व ना भेजने को लेकर विवाद हो गया।

Mohan Lal Kumawat | Publish: Oct, 12 2019 11:55:16 AM (IST) Tonk, Tonk, Rajasthan, India

बालिकाओं को आगे बढऩे की प्रेरणा दी, वहीं बाल कल्याण समिति में माता-पिता जाने के लिए एक किशोरी को पांच घंटे लग गए। इस दौरान बाल कल्याण समिति सदस्यों में उक्त किशोरी को भेजने व ना भेजने को लेकर विवाद हो गया।

टोंक. बालिका दिवस girl's Day पर प्रशासन ने जहां कई कार्यक्रम आयोजित कर बालिकाओं Girls को आगे बढऩे की प्रेरणा दी, वहीं बाल कल्याण समिति Child Welfare Committee में माता-पिता mother-father जाने के लिए एक किशोरी को पांच घंटे Teenager five hours लग गए।

read more :पिच्छिका परिवर्तन महोत्सव, विरेन्द्र दीक्षा लेकर बने मुनि शुद्ध सागर, देशभर से उमड़े श्रद्धालु

 इस दौरान बाल कल्याण समिति सदस्यों में उक्त किशोरी को भेजने व ना भेजने को लेकर विवाद हो गया। उनके बीच हुआ विवाद बाहर सडक़ Controversy out पर रुपए के लेने-देन के आरोप प्रत्यारोप Counter charges में भी बदल गया। जब मामला जिला कलक्टर के. के. शर्मा तक पहुंचा तो शाम पांच बजे उक्त किशोरी को माता-पिता के सुपुर्द कर दिया। ये किशोरी टोंक की है और नारी निकेतन अजमेर से भेजी गई थी।

read more : राज्य बीज विधायन केन्द्र दूनी पर प्रदर्शन कर किया प्रदर्शन, किसानों को बीज नही देने का लगाया आरोप
उसे अजमेर पुलिस बाल कल्याण समिति लेकर आई थी। मामले के अनुसार ये किशोरी कुछ दिनों पहले घर से चली गई थी। जिसे बाल कल्याण समिति ने नारी-निकेतन भेज दिया था। शुक्रवार को नारी निकेतन के आदेश पर अजमेर पुलिस उक्त किशोरी को बाल कल्याण समिति के सपुर्दु कर माता-पिता को देने आए थे।

किशोरी व पुलिस दोपहर 12 बजे बाल कल्याण समिति आ गए, लेकिन समिति सदस्यों में विवाद हो गया। इसमें चार में से दो सदस्यों का निर्णय था कि किशोरी दूसरी बार भागी है और करीब डेढ़ महीने पहले माता-पिता के द्वार मारपीट के आरोप लगाकर नारी-निकेतन जाने को कह रही थी।

read more : टैंकर की टक्कर से टैम्पू सवार दर्जनभर छात्र हुए घायल, दो गंभीर घायलों को को किया रैफर

ऐसे में उसे वहीं भेजा जाए। जबकि दो सदस्य किशोरी के मुताबिक माता-पिता के पास भेजने को कह रहे थे। शाम साढ़े चार बजे तक इसी बात को लेकर उनमें जबरदस्त आरोप प्रत्यारोप लगे। आखिरकार अजमेर पुलिस को इसकी शिकायत जिला कलक्टर से करनी पड़ी। इस पर अतिरिक्त जिला कलक्टर तथा जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के आदेश पर उक्त किशोरी को बाल कल्याण समिति ने शाम पांच बजे माता-पिता को सुपुर्द किया।

read more : बजरी से भरा ट्रक अनियंत्रित होकर पलटा, हादसा टला

देवली. राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय डाबर कलां के तीन छात्रों का राज्यपाल पुरस्कार के लिए चयन हुआ है। प्रधानाचार्य शबनम ने बताया कि चयनित छात्र नरेन्द्र कुमार वर्मा, विनोद योगी व आशीष कुमार वर्मा है, जो कि स्काउट गाइड संघ देवली से जुड़े है। शारीरिक शिक्षक खेमराज मीणा ने बताया कि तीनों छात्रों को अगले वर्ष 26 जनवरी पर राज्यपाल सम्मानित करेंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned