खुश खबर: टोंक कोविड-१९ लैब में कोरोना जांच हुई शुरू, 62सैंम्पल जांचे

अब जांच रिपोर्ट के लिए नहीं करना पड़ेगा इंतजार: कुछ दिनों मेंं प्रतिदिन १००० नमूनों की हो सकेगी जांच

By: Vijay

Published: 04 Dec 2020, 09:54 PM IST

टोंक. गत दिनों प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा सआदत अस्पताल टोंक सहित छह जिलों में कोविड-१९ लैब के वर्चुअल लोकार्पण के बाद से जिले के सबसे बड़े सआदत अस्पताल में एनएचएम की ओर से एक करोड़ रुपए की लागत से बनी कोविड-१९ लैब में कोरोना जांच शुरू कर दी गई है।
जल्द ही जिले भर से संग्रहण किए जाने वाले सभी कोरोना सैम्पलों की जांच टोंक सआदत अस्पताल स्थित लैब में होने लगेगी। पीएमओ डॉ नवीन्द्र पाठक ने बताया कि सआदत अस्पताल में बनी कोविड-१९ लैब में गत दिनों लैब में नोडल अधिकारी डॉ शिल्पी बैनर्जी व जयपुर से आए माइक्रो बायोलॉजिस्ट डॉ. धीरज खण्डेलवाल की देखरेख में कोरोना जांच के लिए क्वालिटी कंट्रोल कार्य के बाद जोधपुर एम्स से मिली स्वीकृति के बाद टोंक में कोरोना जांच शुरू कर दी है। फिलहाल जिलेभर से कोरोना के नमूने लेकर जयपुर एसएसएस भेजे जा रहे हैं। उनकी रिपोर्ट में दो से तीन दिन लग रहे हैं। टोंक में जांच शुरू होने पर प्रतिदिन जांच मिलने लगेगी। इससे रोगियों के उपचार में समय की बचत भी होगी। पीएमओ पाठक ने बताया कि कोरोना जांच लैब के लिए राज्य सरकार ने उपकरण के लिए 85.30 लाख रुपए तथा विविध जरूरत के लिए 20 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई है।
कोविड -१९ लैब के लिए जयपुर एसएमएस से लगाए नोडल अधिकारी डॉ ललिता वर्मा ने बताया कि टोंक में कोविड-१९ लैब में कोरोना जांच शुरू कर दी गई है। वर्मा ने बताया कि अब तक तीन बार की जांच में कुल ६२ सैम्पलों की जांच की गई है।
वर्मा ने बताया कुछ स्टॉफ और अन्य आवश्यक सामानों की पूर्ति पूरी हो जाने के बार जल्द ही जांचों का दायरा बढ़ाया जाएगा। वर्मा ने बताया कि लैब के सफल संचालन के लिए लैब के लिए १८ लैब टेक्नीशियन, ६ ऑपरेटर व रिसर्च सहायक होंगे। इनमें से रिचर्स सहायक डॉ प्रियंका चौधरी सहित अधिकतर ने कार्यभार ग्रहण कर लिया है। वर्मा ने बताया कि लैब में एक बार में ९४ नमूनों की जांच की जा सकती है, जिनकी रिपोर्ट भी बिना टेक्निकल या अन्य दूसरे कारण से प्रभावित हुए ८ घंटे में मिल सकेगी। वर्मा ने बताया कि लैब में प्रतिदिन १००० नमूनों की जांच हो सकेगी।डॉ वर्मा ने बताया कि जिस प्रकार अभी जयपुर में जांच के बाद मरीज की रिपोर्ट मोबाइल पर एसएमएस के जरिए मिलती है। उसी प्रकार टोंक में जांच होने के कारण रिपोर्ट मिलेगी।

Vijay Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned