हाईकोर्ट ने शिक्षा अधिकारियों को जारी किए नोटिस

हाईकोर्ट ने शिक्षा अधिकारियों को जारी किए नोटिस

 

By: pawan sharma

Published: 12 Jan 2021, 07:25 PM IST

टोंक. राजस्थान उच्च न्यायालय ने मंगलवार को एक शिक्षिका को मेडिकल पुनर्भरण की राशि का भुगतान नहीं किए जाने से जुड़ी याचिका पर राज्य के प्रमुख शिक्षा सचिव ,शिक्षा निदेशक, टोंक के मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी तथा टोंक के जिला कोषाधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी कर चार सप्ताह ने जवाब तलब किया है।

न्यायाधीश संजीव प्रकाश शर्मा की एकलपीठ ने यह अंतरिम आदेश टोंक पंचायत समिति के अरनिया गांव में कार्यरत अध्यापिका संतरा चौधरी द्वारा एडवाकेट लक्ष्मीकांत शर्मा मालपुरा के जरिये दायर की गई याचिका पर प्रारम्भिक सुनवाई करते हुए दिए है।

याचिका में बताया गया कि प्रार्थिया कई बीमारियों से पीडि़त होने के कारण देश और प्रदेश के नामी चिकित्सालय में इलाज करवाया है, उसकी करीब एक लाख 30 हजार रुपए की राशि के मेडिकल बिलों के पुनर्भरण में विभाग लम्बे समय से भुगतान स्वीकृत नहीं कर रहा है, जिसे याचिका में चुनौती दी गई है।अदालत ने मंगलवार को सुनवाई के बाद पक्षकारों को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

आरोपी चोर को जेल भेजा

दूनी. टोंक सहित अन्य जिलों में सक्रिय रह दर्जनों चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह के गिरफ्तार शातिर आरोपी से रिमाण्ड अवधि में चांदी के जेवर व चोरी के कार्य में ली बाइक बरामद कर सोमवार को दूनी न्यायालय में पेश करने पर न्यायिक मजिस्ट्रेट ने उसे जेल भेजने के आदेश दिए।

पुलिस फरार अन्य आरोपी की तलाश कर रही है। दूनी थानाप्रभारी नाहरसिंह मीणा ने बताया कि आरोपी राजमहल निवासी कीमतराज कंजर है। आरोपी ने अगस्त 2020 में निवारिया में चोरी कर हजारों के जेवर चुरा ले गया था। गौरतलब है कि गिरोह ने दूनी, निवारिया, कालानाड़ा-कैकड़ी मार्ग, देवली, दौलता मोड़, बीसलपुर-टोड़ारायसिंह मार्ग, पनवाड़ मोड़, सरोली-नयागावं राजमार्ग, नेगडिय़ा चौराहा से चोरी व सोनवा, शिवदासपुरा, किशनगढ़ व जोगणियां टोल नाके पर वाहनों में सो रहे डेढ़ दर्जन चालक-मालिकों की जेब तराशी की घटनाओं को अंजाम दिया था।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned