पत्नी व बच्चों के बाद पति ने भी फंदा लगा की आत्महत्या

पत्नी व बच्चों के बाद पति ने भी फंदा लगा की आत्महत्या

 

By: pawan sharma

Published: 23 Oct 2020, 08:17 PM IST

राजमहल. गांवड़ी पंचायत क्षेत्र के रघुनाथपुरा गांव में करीब एक वर्ष पूर्व पत्नी ने अपने दो मासूम बच्चों के साथ कुएं में कूदकर जान देने के बाद अब परिवार के बिछुडऩे के वियोग में शुक्रवार को पति ने भी घर फंदा लगा लिया। घटना की जानकारी होते ही गांव में शोक की लहर दौड़ पड़ी। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची देवली थाना पुलिस ने शव कब्जे में लेने के साथ ही देवली चिकित्सालय में पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौप दिया।

वहीं मामले की जांच में जुट गई है। देवली थाना पुलिस ने बताया कि मृतक रघुनाथुरा गांव निवासी संतकुमार मीणा(35) वर्ष पुत्र दुर्गा लाल मीणा है, जो ट्रक चालक का कार्य करता था। संतकुमार ने घर के अंदर कड़े में रस्सी का फंदा लगाया है, जिसकी पुलिस की ओर से जांच की जा रही है। इधर, घटना की जानकारी होते ही लोगों की भीड़ मौके पर एकत्र हो गई।

ग्रामीणों ने बताया कि गत 6 अगस्त को मृतक की पत्नी बीसलपुर गोकर्णेश्वर महादेव मंदिर के लिए पैदल यात्रा में गई थी। जहां से वापस लौटने के दौरान घर नहीं आकर गांव के रास्ते में बने कुएं में अपने दो मासूम पुत्रों के साथ छलांग लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली थी, जिसके बाद से ही मृतक मानसिक रूप से परेशान रहने लगा था और शुक्रवार को उसने भी फंदा लगा लिया।

अकेला रहने से बढ़ा तनाव- ग्रामीणों ने बताया कि मृतक के माता-पिता की पूर्व में मृत्यु हो चुकी है। वहीं 30 वर्षिय पत्नी आशा देवी ने 6 अगस्त 2019 को बड़े पुत्र राहुल 8 वर्ष व छोटे पुत्र सागर 7 वर्ष के साथ कुएं में कूदकर जान दे दी थी। परिवार में बचा मृतक का बड़ा भाई रामकुंवार मीणा घटना के कुछ दिनों बाद ही परिवार सहित जोधपुर में रहकर मजदूरी कर परिवार का पालन पोषण करने लगा था। ऐसे में मृतक पुरे मकान में अकेला रहता था, जो पिछले कई दिनों से मानसिक तनाव मेें था।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned