शहरों की तरह गांव में घर-घर मिलेगा पानी

अवैध नल कनेक्शन का निकाला तोड़
नल पॉइंट पर झगड़े भी होंगे खत्म
47 नई टंकी बनेगी
बीसलपुर बांध परियोजना ने मांगी टंकी निर्माण की स्वीकृति
153 करोड़ रुपए हुए स्वीकृत

जलालुद्दीन खान

टोंक. बीसलपुर बांध परियोजना की ओर से गांवों में डाली गई पेयजल पाइप लाइन में अवैध नल कनेक्शन और जल वितरण पॉइंट पर होने वाले झगड़े कुछ समय बाद खत्म हो जाएंगे।

इसके लिए बी

By: jalaluddin khan

Published: 09 Jun 2021, 09:04 PM IST

शहरों की तरह गांव में घर-घर मिलेगा पानी
अवैध नल कनेक्शन का निकाला तोड़
नल पॉइंट पर झगड़े भी होंगे खत्म
47 नई टंकी बनेगी
बीसलपुर बांध परियोजना ने मांगी टंकी निर्माण की स्वीकृति
153 करोड़ रुपए हुए स्वीकृत

जलालुद्दीन खान
टोंक. बीसलपुर बांध परियोजना की ओर से गांवों में डाली गई पेयजल पाइप लाइन में अवैध नल कनेक्शन और जल वितरण पॉइंट पर होने वाले झगड़े कुछ समय बाद खत्म हो जाएंगे।

इसके लिए बीसलपुर बांध परियोजना शहरों की तरह गांव-ढाणियों में भी घर-घर नल कनेक्शन की तैयारी कर रही है। इसके लिए परियोजना को हाल ही में 153 करोड़ रुपए की स्वीकृति मिली है। इसके तहत परियोजना पहले टंकियों का निर्माण कराएगी।

इसके बाद गांव की ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति के माध्यम से हर घर तक नल कनेक्शन होगा। ऐसे में ग्रामीणों को पानी के लिए कुएं या बीसलपुर बांध परियोजना के नल पॉइंट पर पानी भरने नहीं जाना पड़ेगा।

परियोजना ने गांवों में पानी की टंकी का निर्माण करने के लिए जिला परिषद के माध्यम से जमीन की मांग की है। ताकि जल्द से जल्द टंकी का निर्माण शुरू किया जा सके। ग्राम पंचायत की ओर से स्वीकृति मिलने के बाद आने वाले दो साल में प्रत्येक गांव में घर-घर नल कनेक्शन से पानी पहुंचाने की तैयारी है। हालांकि बीसलपुर बांध परियोजना ने टंकी के समीप के 7 हजार मकानों तक नल कनेक्शन दे दिए हैं।


460 गांवों में पहुंचा पानी
बीसलपुर बांध परियोजना ने टोंक-देवली-उनियारा के गांवों में पानी पहुंचाने के लिए 542.11 करोड़ रुपए की योजना लागू की थी। इसके तहत अब तक 460 गांवों में नल पॉइंट से पानी पहुंचाया जा चुका है।

वहीं हमीरपुर, आमली व मल्लापुरा व एक अन्य गांव में वन विभाग की जमीन से पाइप लाइन डाले जाने लेकर अभी तक पॉइंट नहीं डल पाए हैं। स्वीकृति मिलने के बाद इन गांवों में भी पानी पहुंचाया जाएगा।


71 टंकियां है अभी
टोंक-देवली-उनियारा के 464 गांवों में पानी पहुंचाने के लिए अभी तक 71 टंकियों का निर्माण किया जा चुका है। जबकि घर-घर नल कनेक्शन के लिए 47 टंकी का और निर्माण होना है।

परियोजना के मुताबिक टोंक के 124, देवली के 148 तथा उनियारा के 210 गांवों में पानी पहुंचा है। जबकि टोंक के 18 गांव बनास नदी के दूसरी ओर होने पर उन्हें निवाई परियोजना में जोड़ा गया है। वहीं देवली के 21 गांव डूब क्षेत्र में होने से उन्हें बीसलपुर बांध की बघेरा योजना से जोड़ा गया है।


नल कनेक्शन योजना में हुआ संशोधन
दरअसल घर-घर नल कनेक्शन देने के लिए जल जीवन मिशन योजना 15 अगस्त 2019 में ही लागू हो गई थी, लेकिन इस योजना में 4 हजार से अधिक आबादी वाले गांवों के घर-घर में ही कनेक्शन देना था।

इस योजना में संशोधन कर अब गांव व ढाणी के प्रत्येक घर तक पानी का कनेक्शन दिया जाएगा। हालांकि इसमें 100 जनों की आबादी तय की गई है। इसके लिए परियोजना ने 200 करोड़ रुपए का प्रस्ताव भेजा था, जिसे सरकार ने स्वीकृत कर 153 करोड़ रुपए की स्वीकृति गत 3 जून को जारी कर दी है।


ऐसे मिलेगी राशि
घर-घर नल कनेक्शन के लिए 45 प्रतिशत केन्द्र व 45 प्रतिशत राज्य सरकार और 10 प्रतिशत ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति को राशि देनी होगी। समिति प्रत्येक उपभोक्ता से कनेक्शन के लिए 2 हजार 500 रुपए लेगी।

इसके बाद कनेक्शन जारी किए जाएंगे। समिति का अध्यक्ष सरपंच या उसकी ओर से मनोनीत किया गया कोई वार्ड मेम्बर होगा। वहीं कोषशध्यक्ष ग्राम पंचायत का सचिव होगा। वहीं बैंक में समिति का खाता खोला जाएगा।


65 लाख लीटर होगी टंकी की क्षमता
टोंक-देवली-उनियारा के गांवों घर-घर तक पानी पहुंचाने जो 47 टंकियां बनेगी उनकी क्षमता 65 लाख लीटर की होगी। ताकि सभी घरों तक पानी पर्याप्त मात्रा में पहुंचाया जा सके।

झगड़े भी हो जाएंगे खत्म
फिलहाल परियोजना ने 100 घरों के बीच एक नल कनेक्शन दिया हुआ है। इसमें पानी भरने को लेकर आए दिन झगड़े होते रहते हैं।

वहीं कई जगह की शिकायत यह रहती है कि पड़ोसी ने पॉंइंट को ही अपने कब्जे में ले लिया। वहीं कई गांवों में लगे नल पॉइंट में पानी इस लिए नहीं आता कि बीच में कुछ लोग अवैध कनेक्शन ले लेते हैं। ऐसे में घर-घर तक नल कनेक्शन होने पर कोई ना तो अवैध कनेक्शन लेगा और ना ही किसी के कब्जे में कोई पॉइंट जाएगा।


टंकी के लिए मांगी है स्वीकृति
टोंक, देवली व उनियारा के गांवों में घर-घर नल कनेक्शन के लिए 47 टंकियों का निर्माण कराना है। इसके लिए जिला प्रमुख व जिला कलक्टर के माध्यम से ग्राम पंचायतों से जमीन मांगी है। इसके बाद जल्द ही निर्माण कार्य भी शुरू कर दिया जाएगा।
- राजेश गोयल, अधीक्षण अभियंता बीसलपुर बांध परियोजना टोंक


जल्द ही जारी कराएंगे स्वीकृति
बीसलपुर बांध परियोजना के अभियंताओं ने टंकी निर्माण के लिए ग्राम पंचायतों से जमीन मांगी है। इसे जल्द ही स्वीकृत कराया जाएगा, ताकि ग्रामीणों को घर तक पानी मिल सके।
- सरोज बंसल, जिला प्रमुख टोंक

jalaluddin khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned