मालपुरा में मारपीट व अवैध वसूली मामले में हेड कांस्टेबल व तीन कांस्टेबल को लाइन हाजिर किया

मारपीट व अवैध वसूली के आरोप में हुई कार्रवाई

By: Vijay

Published: 14 Jun 2020, 09:08 AM IST

टोंक. मारपीट करने व अवैध रूप से वसूली करने के मामले में पुलिस अधीक्षक आदर्श सिद्धू ने मालपुरा थाने के एक हेड कांस्टेबल व तीन कांस्टेबल लाइन हाजिर किया है। उपखंड के टोरडी निवासी एक ट्रैक्टर चालक द्वारा विधायक कन्हैया लाल चौधरी से पुलिस कर्मियों द्वारा मारपीट करने व अवैध वसूली करने के मामले में शिकायत की थी। इस पर विधायक ने पुलिस अधीक्षक को मामले की जांच करने एवं पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की थी। इस पर पुलिस अधीक्षक ने मामले की जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोवर्धन लाल सोंकरिया को सौंपी गई थी, जिस पर मालपुरा थाने में नियुक्त हेड कांस्टेबल अचल सिंह, कांस्टेबलराजेश कुमार, सियाराम व सूरज को लाइन हाजिर किया गया।

बजरी से भरा ट्रैक्टर चढ़ाने का प्रयास
टोडारायसिंह. थानांतर्गत कुरास्या में बजरी खनन से जुड़े लोगों के खिलाफ जान से मारने की नियत से ट्रैक्टर चढ़ाकर हत्या करने का प्रयास व घर में घुसकर मारपीट करने का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस के अनुसार कुरास्या निवासी खेमराज पुत्र देवीलाल मीणा ने बताया कि बनास नदी तट पर उसके पिता का खातेदारी खेत है, जिसको वर्तमान में फसल के लिए हकाई कर तैयार कर रखा है।


लगातार कार्रवाई फिर भी नहीं सुधरते
टोंक. बनास नदी में किए जा रहे अवैध खनन को नियंत्रण करने वाले पुलिसकर्मियों पर लगातार कार्रवाई की गई है। इसके बावजूद अवैध खनन के बाद परिवहन जारी है। मालपुरा में पुलिसकर्मियों को खननकर्ताओं का साथ देने पर लाइन हाजिर कर दिया गया। इसके बावजूद बजरी का खनन व परिवहन जारी है। गत दिनों मेहंदवास क्षेत्र के लोगों ने शिकायत की थी कि लॉकडाउन खुलने के बाद खननकर्ताओं ने बनास नदी से हाइवे तक खेतों के सहारे रास्ते बना लिए हैं। वे बनास में वाहन भरकर सीधे हाइवे से गुजरते हैं। जबकि हाइवे पर मेहंदवास समेत सदर थाने की गश्त होती है, लेकिन कभी पकड़ में नहीं आ रहे हैं। दूसरी ओर पुलिस अधीक्षक ने दो साल में बजरी खनन में लिप्त एक दर्जन पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की है। वहीं कई पुलिसकर्मी व अन्य तो बजरी की राशि लेते एसीबी की पकड़ में भी आ चुके हैं। सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद एसीबी की टीम ने सबसे पहले ११ दिसम्बर २०१७ को खनिज विभाग के फोरमैन देशराज मीणा को बजरी से भरे वाहनों के चालकों से रुपए लेते हुए गुंसी चेकपोस्ट से गिरफ्तार किया। उसके साथ आरएसी १४वीं बटालियन का कांस्टेबल राजाराम भी था। एसीबी ने २८ जून २०१८ को मालपुरा की टोरडी पुलिस चौकी के कांस्टेबल प्रेमराज को चालकों से राशि वसूलने पर ५ हजार रुपए के साथ गिरफ्तार किया था। निवाई उपखण्ड अधिकारी के चालक किशनलाल खंगार को एसीबी ने ५ अक्टूबर २०१८ को चालकों से २ हजार रुपए की रिश्वते लेते पकड़ा था। इसके अलावा भी कई मामले है।

Vijay Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned