नवरात्र विशेष- रानी के स्वस्थ होने पर माधोसिंह प्रथम ने बनाया कंकाली माता (मठ) व मंदिर

नवरात्र विशेष- रानी के स्वस्थ होने पर माधोसिंह प्रथम ने बनाया कंकाली माता (मठ) व मंदिर

 

By: pawan sharma

Published: 16 Oct 2020, 07:06 PM IST

पीपलू (रा.क.). कस्बे में स्थित ब्रह्माणी रूद्रााणी कंकाली माता मंदिर जन आस्था का केन्द्र बना हुआ है। पुजारी प्रकाश, मदन, शंकर पुरी ने इस मंदिर के बारे में बताया कि मंदिर को 1860 में माधोसिंह प्रथम ने कंकाली मां के आशीर्वाद से जयपुर रियासत महारानी के बीमारी से स्वस्थ होने पर करवाया था।

उन्होंने बताया कि जयपुर रियासत के राजा माधोसिंह प्रथम की रानी की तबीयत खराब हो गई थी, जिस पर महाराजा सभी वैद्यों से महारानी का इलाज करवा चुके थे, लेकिन महारानी की बीमारी ज्यों की त्यों बनी हुई थी। उन्हें किसी ने बताया कि पीपलू में महंत त्रिलोक पुरी है, जो महारानी की बीमारी को ठीक कर देंगे।

इस पर राजा ने महंत त्रिलोक पुरी को दरबार में बुलाया। महंत हमेशा देवी मैया की मूर्तियां साथ रखते थे, जो राजा के बुलाने पर दरबार में गए। राजा ने कहा कि रानी बीमार है और पर्दे में है। उन्हें बिना देखे आप उनका इलाज कैसे कर सकते है। इस पर महंत ने कहा कि सूत की डोरी का एक कोना रानी के हाथ पर बांध दो, उससे में उनकी नब्ज देख लूंगा।

राजा को इस बात पर विश्वास नहीं हुआ कि सूत से कैसे नब्ज देखी जा सकती है ? उन्होंने रानी के हाथ में सूत की डोरी का एक कोना बांध दिया। फिर महंत ने सूत के जरिए रानी की नब्ज देखते हुए बीमारी बताई और उस बीमारी की दवा दी। महारानी तीन दिन में देवी मैया के आशीर्वाद से पूर्णतया ठीक हो गई।

इस पर राजा ने महंत के साथ रहने वाली देवी मैया की मूर्तियों को स्थापित करवाते हुए मंदिर बनाने को कहा। इस पर महंत ने पीपलू में मंदिर बनवाने की कही। इस पर राजा माधोसिंह प्रथम महारानी के साथ पीपलू आए और माताजी का मंदिर बनावाना शुरू किया।

1860 में बना यह मंदिर मठ के नाम से भी जाना जाता है। नवरात्रों में यहां विशेष पूजा अर्चना सहित मंदिर के रंगरोगन करके बिजली की रोशनी से सजाया जाता है तथा यहां शाम के समय की आरती व संकीर्तन में श्रद्धालु काफी संख्या में उमड़ते हैं।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned