श्रद्धालुओं को मंगल कलश प्रदान किए गए

आर्यिका कनकश्री के स्वास्थ्य लाभ के लिए शांति धारा की
जैन समाज के लोगों ने णमोकार का जाप किया
टोंक. शांतिनाथ दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र सांखना में शुक्रवार सुबह क्षीरसागर से जल लाकर भगवान शांतिनाथ, शीतलनाथ एवं चंद्रप्रभु का अभिषेक व शांति धारा की गई। प्रबंध समिति मंत्री प्यार चंद जैन ने बताया कि आर्यिका कनकश्री के स्वास्थ्य लाभ के लिए भगवान शांतिनाथ की रिद्धि मंत्रों के उच्चारण के साथ व्रहद शांति धारा की गई।

By: jalaluddin khan

Published: 20 Nov 2020, 08:54 PM IST

श्रद्धालुओं को मंगल कलश प्रदान किए गए
आर्यिका कनकश्री के स्वास्थ्य लाभ के लिए शांति धारा की
जैन समाज के लोगों ने णमोकार का जाप किया
टोंक. शांतिनाथ दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र सांखना में शुक्रवार सुबह क्षीरसागर से जल लाकर भगवान शांतिनाथ, शीतलनाथ एवं चंद्रप्रभु का अभिषेक व शांति धारा की गई। प्रबंध समिति मंत्री प्यार चंद जैन ने बताया कि आर्यिका कनकश्री के स्वास्थ्य लाभ के लिए भगवान शांतिनाथ की रिद्धि मंत्रों के उच्चारण के साथ व्रहद शांति धारा की गई।

शांतिधारा के बाद 24 भगवान की पूजा, शांतिनाथ भगवान की पूजा एवं नित्य नियम पूजा कर श्रीजी के चरणों में अघ्र्य एवं श्रीफल समर्पित किए गए। इस अवसर पर प्रकाश सोनी, नारायण, प्रकाश पटवारी, बाबूलाल, प्रकाश पाटनी, नरेंद्र, महावीर बज आदि श्रद्धालु मौजूद थे। मीडिया प्रभारी राजेश अरिहंत ने बताया कि चतुर्मास स्थापना दिवस पर 11 बड़े मंगल कलश एवं 11 छोटे मंगल कलश स्थापित किए गए थे।

इन कलशों को श्रद्धालुओं को प्रदान किया गया। मुख्य कलश प्राप्त करने का सौभाग्य प्रकाश सोनी, कमल कुमार, प्रदीप सोनी, योगांग सोनी टोंक के परिवार को मिला। चातुर्मास काल के दौरान अनवरत रूप से आचार्य संघ में मौजूद आर्यिकाओं की सेवा, भक्ति करने वाली एवं चौका व्यवस्था सम्भालने वाली रानी सोनी, प्रेम बाई पाटनी, सुनीता जैन, रेशम देवी, माया, लक्ष्मी, वर्षा, शिल्पा, ज्योति, आदि ने आर्यिका कनकश्री के स्वास्थ्य लाभ के लिए णमोकार महामंत्र का जाप एवं भक्तामर स्त्रोत का पाठ कर भगवान शान्तिनाथ से शीघ्र स्वस्थ करने की प्रार्थना की।

उन्होंने बताया कि आर्यिका का स्वास्थ्य ठीक है। उन्होंने सुबह सहज रूप से आहार ग्रहण किया। आर्यिका कनकश्री मेहंदवास स्थित भगवान चंद्रप्रभु दिगंबर जैन मंदिर में विराजमान है।

समिति के प्रकाश पटवारी ने बताया कि चातुर्मास व्यवस्था सहयोग कूपन में संजय कुमार, प्रकाश चंद अजमेरा, महावीर प्रसाद, पवन कुमार कासलीवाल, रमेश चंद, निहालचंद, अनिल कुमार, वीरेंद्र कुमार, राकेश कुमार, बाबू लाल, कैलाश चंद, दिनेश कुमार, हुकुमचंद, पारस कुमार, महावीर प्रसाद, हेमंत कुमार, सीतादेवी, कैलाश चंद, राजेंद्र कुमार, पारस कुमार लुहाडिया विजेता रहे। इन्हें समिति की ओर से चांदी के मंगल कलश प्रदान किए गए।

jalaluddin khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned