अंधड़ में ढहे आशियाने, बेघर हुए कई परिवार, 75 खम्भे सहित 14 ट्रांसफार्मर भी गिरे

सोमवार देर शाम आई बारिश ओर अंधड़ ने कई झोपड़पट्टी, तंबू तानकर रहने वाले व कच्चें मकानों वालों को बेघर कर दिया। सोमवार देर शाम को बारिश के साथ अंधड़ में उपखंड क्षेत्र कई परिवारों के आशियानें ढह गए। सैकड़ों पेड़ धाराशाही हो गए।

By: pawan sharma

Published: 05 May 2020, 08:21 PM IST

पीपलू (रा.क.)। कहां जाकर रहे साब। सब कुछ बर्बाद हो गया। कोरोना संक्रमण के दौरान जहां पहले ही निराश्रित एवं जरुरतमंद पर आफत आई हुई हैं। वहीं सोमवार देर शाम आई बारिश ओर अंधड़ ने कई झोपड़पट्टी, तंबू तानकर रहने वाले व कच्चें मकानों वालों को बेघर कर दिया। सोमवार देर शाम को बारिश के साथ अंधड़ में उपखंड क्षेत्र कई परिवारों के आशियानें ढह गए। सैकड़ों पेड़ धाराशाही हो गए।

बिजली की डीपी, पोल टूटकर गिर गए। जिससे कई गांवों के लोगों को अंधेरे में रात काटनी पड़ी। वहीं मंगलवार शाम तक भी बिजली गुल रही। कुदरत के इस कहर में कई निर्माणाधीन मकानों, पक्के मकानों की दीवारें ढ़ह गई। किसानों के मकानों पर लगे सीमेंट के चद्दर, टीन उड़ जाने से उसके नीचे रखी कृषि जिंसें भीगकर खराब हो गई। जानवर घायल हो गए। ट्रेक्टर, मोटरसाइकिलें तक क्षतिग्रस्त हो गए। कई जगह भारी भरकम पेड़ों के गिर जाने रास्ते अवरूद्ध हो गए।


हनीफगंज में पोल गिरे, बिजली गुल
रानोली के मुख्य बसस्टैंड पर नीम का पेड़ टूट कर गिर गया। पंचायत के हनीफगंज में कई बिजली के पोल, डीपी टूट कर गिर गए। जिससे बिजली गुल हैं। सोहेला में बिजली गुल हैं। रहीमपुरा धोला भाटा के कन्हैयाला गुर्जर ने बताया कि यहां के बालूराम, कन्हैयालाल, प्रहलाद, चतुर्भुज आदि के मकानों के चद्दर उड़ गए। वहीं काशीपुरा में भी प्रभुलाल पुत्र छीतरमल बेरवा के मकान के चद्दर उड़ गए।

कुरेड़ा के लोकेश मीणा ने बताया कि राजकीय माध्यमिक विद्यालय के पास तेज हवा और बारिश के कारण टूटा भारी बबूल वृक्ष के कारण कुरेडा-कुरेडी मार्ग पुरी तरह बंद हो गया। सोहेला में तेज हवा के साथ आए तूफान एवं बारिश के कारण दर्जनों पेड़ धाराशाही हो गए। मकानों के टीनशेड उड़ गए। संकेतक बोर्ड टूट गए। सोहेला जयपुर कोटा एनएच 12 पर यूको लिपस्टिक सफेदा के भारी पेड़ गिरने के कारण काफी देर हाईवे पर आवागमन बाधित रहा।


सरपंच ने लिया नुकसान का जायजा
लोहरवाड़ा में तूफान ने काफी तबाही मचाई जहां पेड़ों के गिरने से कई पशु पक्षी अकाल मौत मरे हैं तथा कई मकानों के तीन छप्पर उड़ जाने से वे लोग खुले आसमां के नीचे रहने को विवश हुए हैं। लोहरवाड़ा ग्राम पंचायत सरपंच आशुतोष बलाई ने पंचायत क्षेत्र का दौरा करके पीडि़त लोगों को उचित राहत दिलवाने का भरोसा दिया है। यहां के रामा बेरवा की भैंस घायल हो गई।

रामनिवास बैरवा, गिर्राज माली, धर्मराज माली, सूरजकरण माली के मकानों के चद्दर उड़ गए। इसी तरह पीपलू झिराना रानोली कठमाणा नानेर गलोद समेत क्षेत्र के कई गावों में काफी नुकसान हुआ है। बगड़ी में 500 साल पुराने बरगद का पेड़ तूफान में टूटा पीपलू बगड़ी मार्ग हुआ बाधित तेजाजी नामक स्थान पर बगड़ी में शिव मंदिर पर बरगद का पेड़ गिरा लेकिन मंदिर को कोई क्षति नहीं हुई जिससे लोग काफी आश्चर्य चकित थे।

आंधी तूफान में क्षेत्र के कई गांव में बिजली व्यवस्था भी प्रभावित है जिसके चलते क्षेत्र के बिजली उपभोक्ताओं को काफी परेशानी रात के अंधेरे में उठानी पड़ रही है।


पोल, ट्रांसफार्मर टूटे, बिजली बंद
बिजली विभाग के लाइनमेन राजकुमार ने बताया कि उपखंड क्षेत्र में बीती देर शाम आए अंधड में 11 केवी लाइन के 55 पोल टूट कर गिर गए हैं। वहीं एलटी लाइन के 20 पोल टूटकर गिरे हैं। साथ ही थ्री फेज के 8 ट्रांसफार्मर, सिंगल फेज के 6 ट्रांसफार्मर भी धाराशाही हो गए हैं। इसके चलते नाथड़ी, बगड़वा, जयकिशनपुरा, रानोली आदि फीडरों से जुड़े करीब दो दर्जन गांवों की सप्लाई प्रभावित हुई हैं। विभाग द्वारा इसको लेकर कार्य शुरु किया गया हैं।

latest weather update
Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned