ग्रामीणों को मिलेगा स्वास्थ्य का लाभ, भवन का लोकार्पण कर विधायक ने भामाशाह का किया सम्मान

ग्रामीणों को मिलेगा स्वास्थ्य का लाभ, भवन का लोकार्पण कर विधायक ने भामाशाह का किया सम्मान

Pawan Kumar Sharma | Publish: Apr, 17 2018 10:00:57 AM (IST) Tonk, Rajasthan, India

नवीन भवन के निर्माण होने से एक ही छत के नीचे सभी प्रकार की सुविधाएं मिलने से लोगों को इसका सीधा लाभ मिलेगा।

 

मालपुरा. उपखण्ड के नगर गांव में सोमवार को विधायक कन्हैयालाल चौधरी, भामाशाह संजय पापड़ीवाल, प्रधान सरोज चौधरी, डीआर रूपचन्द आकोदिया ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के नवीन भवन का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उपस्थित ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए विधायक कन्हैयालाल चौधरी ने कहा कि नगर गांव में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के नवीन भवन के निर्माण होने से ग्रामीणों को चिकित्सा सेवाओं का लाभ मिलेगा तथा एक ही छत के नीचे सभी प्रकार की सुविधाएं मिलने से लोगों को इसका सीधा लाभ मिलेगा।

 

 

भामाशाह संजय पापड़ीवाल द्वारा अस्पताल में वाटर कूलर लगाने, पौधारोपण, एलईडी लगाने पर विधायक ने उनका माल्यार्पण व साफा बंधवाकर स्वागत किया। विधायक ने ग्रामीणों की मांग पर अस्पताल में 104 व 108 एम्बुलेंस की सुविधा शुरु करवाने का प्रयास की घोषणा की।

 

डीआर रूपचन्द आकोदिया ने कहा कि उपस्वास्थ्य केन्द्र से प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र होने से चिकित्सा सेवाओं को बढ़ावा मिलेगा। बीसीएमएचओ श्यामस्वरूप शर्मा ने कहा कि एनआरएचएम योजना के तहत डेढ़ करोड़ की लागत से भवन का निर्माण करवाया गया है। समारोह को प्रधान सरोज चौधरी, सरपंच रामजीलाल टेलर, सीआर मन्दसौर देवी, देहात अध्यक्ष बालाबक्ष चौधरी, पूर्व सरपंच सकराम चौपड़ा ने भी विचार व्यक्त किए।

 


जिलों में बनेगी गोशाला
बंथली. आवारा पशुओं की संख्या देख हाल ही में सरकार की मंत्रीमंडलीय उप-समिति ने प्रत्येक जिले में नन्दी गोशाला खोलने का निर्णय किया है। इससे अवांछित नस्लों सहित किसानों के होने वाले नुकसान पर रोकथाम लगेंगी। यह जानकारी सोमवार को कृषि मंत्री डॉ. प्रभुलाल सैनी ने दी। सैनी ने बताया कि नंदी गोशाला का जिम्मा एनजीओ सहित संस्थाओं को प्राथमिकता से देकर राज्य सरकार की ओर से मिलने वाले अनुदान व सहायता गोपालन विभाग देगा।

 

ताकि सडक़ों पर आवारा घुमने वाले बछड़े पर रोकथाम लग सके साथ ही किसानों को भी राहत मिल सकेगी। बिगड़ी नस्लों में सुधार व रोकथाम का कार्य जिले वार नंदी शाला योजना शुरू होने पर होगा। बीकानेर की प्रयोगशाला में देशी गोवंश नस्ल राठी, थारपारकर, गिर व काकरेज का संधारित व संवर्धन किया जा रहा है। देशी गोवंश थारपारकर का सिमन लेकर काकरेज को सेरोग्रेट मदर बनाया इसमें दो बछड़ी व एक बछड़ा मिला है। इससे देश में देशी गोवंश को सरोगेटर मदर बना अच्छी नस्ल प्राप्त करने का रास्ता खुल चुका है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned