ग्राम पंचायतें बरत रही है अनदेखी, टूटी सडक़ों पर जमा है कीचड़

ग्राम पंचायतें बरत रही है अनदेखी, टूटी सडक़ों पर जमा है कीचड़

By: pawan sharma

Published: 18 Oct 2020, 01:45 PM IST

पीपलू (रा.क.). उपखंड क्षेत्र की 25 ग्राम पंचायतों में 17 जनवरी 2020 को मतदाताओं ने गांवों की सरकार चुनी थी और उम्मीद जताई थी गांवों की सरकार के नए मुखिया पंचायत क्षेत्र में सडक़ों, नालियों का निर्माण करवाकर विकास कार्यों को अमलीजामा पहनाएंगे।

गांवों की सरकार के चुने गए सरंपच अपनी जीत का जश्न मनाकर पंचायत के कार्यों को संभालने ही लगे थे कि कोरोना का संकट आ गया तथा विकास की बजाए वैश्विक महामारी कोरोना के संकट के निदान में जुट गए। ग्राम पंचायतों को बजट नहीं मिलने के चलते अभी तक कहीं भी नवीन विकास कार्य शुरु नहीं हो पाए हैं।

ऐसे में पंचायत क्षेत्र की सडक़ों की हालत सुधरेगी, गंदगी का आलम दूर होगा, नालियों का निर्माण होगा, सडक़ें पंचायतों के सौंदर्य को बढ़ाएंगी को लेकर नेताओं, अधिकारियों, पंचायत प्रशासन के तमाम दावों की हकीकत इन दिनों क्षेत्र की सडक़ों सहित गांव में जगह-जगह सडक़ एवं नालियों के अभाव में हो रखे कीचड़ को देखकर लगाई जा सकती है। गांवों में वाहन चालकों, राहगीरों को आवागमन में काफी दिक्कतें होती है। आम रास्तों में हो रखे गड्ढों एवं जलजमाव से क्षेत्र की सुंदरता पर ग्रहण भी लगा है।

रानोली-फागी मार्ग हुआ क्षतिग्रस्त

पीपलू से रानोली-कठमाणा तक जाने वाला मार्ग इन दिनों पूरी तरह जर्जर होने से डामर सडक़ का नामोनिशान मिट चुका है, जिससे इस मार्ग से गुजरने वाले वाहन रेंगकर चल रहे है। कठमाणा, रानोली, बनवाड़ा आदि के लोगों ने बताया कि सडक़ पर कई दिनों से डामर तो पूरी तरह गायब हो गई, लेकिन इन दिनोंं हर कदम पर गहरे गढ््डे हो गए है।

इस रास्ते से अन्यत्र आवाजाही करने पर हिचकोले ही हिचकोले खाने पड़ते हैं। उन्हें जयपुर, फागी आने जाने में दोगुना समय लग रहा है। वहीं गढ््डों के कारण चौपहिया वाहन चालकों को तकनीकी खराबी आने एवं दुपहिया वाहन चालकों को पंक्चर एवं फिसलने का हरदम अंदेशा बना रहता है। वहीं इस मार्ग से आवाजाही में दोगुना समय लगने से समय की भी बर्बादी हो रही है।

साथ ही डेली अपडाउन करने वालों को कमर दर्द जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इस मार्ग से राजस्थान पथ परिवहन निगम की रोडवेज बस एवं ग्रामीण बसें भी समय पर अपना रूट तय नहीं कर पाती है। वहीं आए दिन गढ््डों के कारण कबानी पट््टे टूटने आदि की तकनीकी खराब भी आती हैं, जिससे आय के बजाय इस रूट पर रोडवेज बस चलाने से निगम को चपत लग रही है।

ग्रामीणों ने निवाई विधायक प्रशांत बैरवा डामर सडक़ के स्वीकृत को शीघ्र शुरु करवाए जाने की मांग की है, जिससे इस मार्ग से सुगम आवाजाही सुचारू हो सके। इसी तरह पीपलू, नाथड़ी ढुंढिया, कुरेड़ा के बीच डामर सडक़ जगह जगह से क्षतिग्रस्त हो रखी है। कई छोटे बड़े गढ््डे होने से दुपहिया वाहन चालक आए दिन फिसलकर चोटिल हो रहे है।

वहीं चौपहिया वाहन चालकों में भी खराबी आ रही है। सडक़ पर जगह जगह कंकरीट फैले होने से भी परेशानी वाहन चालकों को हो रही है। क्षेत्रीय लोगों ने जिला कलक्टर से सडक़ बनाने को लेकर स्वीकृति के बावजूद निर्माण नहीं होने पर जल्द कार्य शुरु करवाए जाने की मांग की हैं।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned