धुवांकला गुरुद्वारा पहुंची नगर कीर्तन यात्रा, देश-प्रदेश से आई हजारों संगते

धुवांकला स्थित गुरुद्वारे में शुरू हुए दो दिवसीय संत शिरोमणी धन्ना भगत के 604वें जन्म शताब्दी सालाना जोड़ मेले में कोटा के अगमगढ़ दरबार साहिब से जत्थेदार बाबा लक्खा सिंह के निर्देशन में शनिवार को आई नगर कीर्तन यात्रा सहित देश-प्रदेश से आई हजारों संगतों का श्रद्धालुओं ने जगह-जगह भव्य स्वागत कर जलपान कराया।

By: pawan sharma

Published: 01 Mar 2020, 11:58 AM IST

दूनी. धुवांकला स्थित गुरुद्वारे में शुरू हुए दो दिवसीय संत शिरोमणी धन्ना भगत के 604वें जन्म शताब्दी सालाना जोड़ मेले में कोटा के अगमगढ़ दरबार साहिब से जत्थेदार बाबा लक्खा सिंह के निर्देशन में शनिवार को आई नगर कीर्तन यात्रा सहित देश-प्रदेश से आई हजारों संगतों का श्रद्धालुओं ने जगह-जगह भव्य स्वागत कर जलपान कराया।

इस दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग ‘जो बोले सो निहाल, सत श्री अकाल’ की मधुर वाणी से गुंज उठा। उल्लेखनीय हैं कि अगमगढ़ से आई कीर्तन यात्रा में शामिल कोटा गुरुद्वारा साहिब जत्थेदार बाबा लक्खा सिंह, बाबा बलविन्द्र सिंह, बड़ोद (गुजरात) दरबार साहिब जत्थेदार बाबा जस्सा सिंह, बाबा हरजीत सिंह व धुवांकला गुरुद्वारा साहिब जत्थेदार बाबा शेर सिंह का सरोली में पूर्र्व प्रधान उदयलाल गुर्जर व पूर्व सरपंच हेमेन्द्र गुर्जर के नेतृत्व में ग्रामीणों ने माला एवं दुपट्टा पहनाकर दरबार साहिब के माथा टेक अरदास की।

इसके बाद नगर कीर्तन यात्रा का नयगावं, भरनी व धुवांकला कस्बे में भव्य स्वागत किया। इस दौरान राजमार्ग पर नगरकीर्तन यात्रा व संगतों के वाहनों से आवागमन एकतरफा हो गया। जत्थेदार बाबा शेर सिंह ने बताया कि आयोजित सालाना जोड़ मेले में पंजाब, गुजरात, राजस्थान सहित देश-प्रदेश के प्रसिद्ध गुरुद्वारा साहिब के संतों व संगतों का आगमन शुरू हो गया हैं।

रविवार को देश-प्रदेश से आने वाली संगते दरबार साहिब स्थित पवित्र सरोवर में स्नान करने के बाद दरबार साहिब के माथा टेक देश-देश में खुशहाली की कामना कर लंगर में प्रसादी ग्रहण करेंगे। साथ ही इस दौरान संगते संतों की पवित्र वाणी सुन निहाल हो उठेगी।

इस दौरान देवड़ावास उपसरपंच ज्ञानचंद गुर्जर, शिव शिक्षा समिति सरोली निदेशक शिवजीलाल चौधरी, सेवानिवृत अध्यापक सत्यनारायण तिवाड़ी, कैलाश कलवाडिय़ा, मोजीराम गुर्जर, विक्की गुर्जर, भंवरलाल गुर्जर सहित देश-प्रदेश से आई सं"तें सहित हजारों ग्रामीण भी मौजूद थे।

नगर कीर्तन यात्रा का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया

देवली. कोटा के अगमगढ़ से दूनी क्षेत्र के धुवाकलां जाने वाली नगर कीर्तन यात्रा का शनिवार को देवली पहुंचने पर नानक नाम लेवा संगत की ओर से स्वागत किया गया। इस दौरान स्थानीय श्रद्धालुओं ने कीर्तन यात्रा पर पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। गुरुद्वारा कमेटी प्रवक्ता गोविन्द सिंह सेठी ने बताया कि पंज प्यारों की अगुवाई में नगर कीर्तन यात्रा दोपहर 3 बजे पेट्रोल पम्प चौराहे पहुंची। जहां गुरु ग्रंथ साहिब के वाहन पर व कीर्तन यात्रियों पर पुष्प वर्षा की गई। इस दौरान जो बोले सो निहाल के जयकारें गंूज उठे। यहां चौराहे पर कीर्तन यात्रा के श्रद्धालुओं को अल्पाहार दिया। इस दौरान मुस्लिम समाज के लोगों ने सदर मस्जिद के बाहर यात्रियों का स्वागत कर धार्मिक सद्भावना का परिचय दिया। मुस्लिम समाज के शादाब अख्तर, सलीम कुरैशी, अकील, सिराजुद्दीन, शम्मी हुसैन ने गुरु ग्रंथ साहिब के आगे मत्था टेका। इसके बाद कीर्तंन यात्रा मुख्य बाजार होते हुए स्थानीय गुरुद्वारा पहुंची। इस बीच व्यापारियों ने यात्रियों पर पुष्पवर्षा की। गुरद्वारा में श्रद्धालुओं की ओर से अरदास की गई। इस दौरान कमेटी अध्यक्ष परमजीत सिंह, उपप्रधान भगवान सेठी, कोषाध्यक्ष अमरचंद बिलोची, संरक्षक सुभाष मनचंदा, मनजीत सिंह काका, मोहन बिलोची, हरि बिलोची, प्रीतपाल सिंह, कुलदीप, दौलत, सचिन, पीयूष, आकाश, खुशवीर सिंह सहित मौजूद थे, जिन्होंने श्रद्धालुओं की सेवा की। अरदास के बाद कीर्तन यात्रा धुवाकलां के लिए रवाना हो गई। इस दौरान सुरक्षा के लिहाज से देवली पुलिस साथ थी।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned