scriptName research center, employee one, not even a single research in two | नाम अनुसंधान केन्द्र, कर्मचारी एक, दो साल में एक भी शोध नहीं | Patrika News

नाम अनुसंधान केन्द्र, कर्मचारी एक, दो साल में एक भी शोध नहीं

केन्द्र में सामग्री व उपकरण तक नहीं मिले

टोंक

Published: November 02, 2021 02:14:07 pm



टोंक. जिला मुख्यालय पर योग एवं प्राकृतिक उपचार को बढ़ावा देने के लिए नगर परिषद की कॉलोनी में राजकीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान केन्द्र खोला गया, लेकिन सरकार की ओर से केन्द्र खोलने के बाद से अब तक अनुसंधान के उपकरणों तक सृजित नहीं किए गए। वहीं केन्द्र तक सुलभ मार्ग नहीं होने के कारण इसमें उपचार लेने वालों की संख्या भी नगण्य है।
जानकारी अनुसार केन्द्र सरकार की योजना के तहत नगर परिषद कॉलोनी में करीब दो वर्ष से राजकीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान केन्द्र संचालित किया जा रहा है। केन्द्र में दो हॉल एवं कक्ष बना हुआ है। केन्द्र में संसाधन के नाम पर मात्र छह कुर्सियां, एक टेबल व दो फर्श है। केन्द्र में मरीज को लैटाने के लिए बेड व स्ट्रेचर तक उपलब्ध वहीं करवाई गई है, जबकि भवन निर्माण पर ही लाखों खर्च किए जा चुके है।
वापस चले जाते है
केन्द्र की ओर जाने वाला मार्ग सुगम नहीं होने से यहां उपचार लेने की इच्छा रखने वाले मरीज भी भटक कर वापस चले जाते है। रोड से केन्द्र तक जाने के लिए पगडंडी बनी हुई है। वहीं बारिश के समय कई दिनों तक तो केन्द्र की ओर जाने का रास्ता कीचड़ युक्त होने से मरीज ही नहीं आए।
अब तक एक भी थैरेपी नहीं
केन्द्र में तीन जनों के पद सृजित है, जिनमें से मात्र एक कम्पाउण्डर ही कार्यरत है, वहीं चिकित्सक अगस्त माह से अवकाश पर है। एवं परिचारक का पद रिक्त है। अनुसंधान केन्द्र में संसाधन नहीं होने के कारण अब एक भी थैरेपी नहीं हुई है।
नाम अनुसंधान केन्द्र, कर्मचारी एक, दो साल में एक भी शोध नहीं
नाम अनुसंधान केन्द्र, कर्मचारी एक, दो साल में एक भी शोध नहीं

स्टॉफ व संसाधन के लिए कई बार लिख कर दिया जा चुका है। ऐसे में कार्य प्रभावित होना स्वाभाविक है।
सुमन बंशीवाल, चिकित्सक,राजकीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान केन्द्र, टोंक

एक बार केन्द्र का निरीक्षण किया है। भवन तक पहुंचने का रास्ता सही नहीं है। बारिश के दौरान पानी भर जाता है। तथा चौपहिया वाहन केन्द्र तक नहीं पहुंच पाता है। स्टॉफ की भी कमी है। अनुसंधान के केन्द्र में उपकरण ही नहीं है।
अरविन्द शर्मा, उपनिदेशक, आयुर्वेद विभाग, टोंक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकाCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतSchool Holidays in January 2022: साल के पहले महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालVideo: राजस्थान में 28 जनवरी तक शीतलहर का पहरा, तीखे होंगे सर्दी के तेवर, गिरेगा तापमानJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 24 January 2022: कुंभ राशि वालों की व्यापारिक उन्नति होगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.